मुख्यमंत्री ने दबाव बनाकर शिकायत वापस करवाने वाले खाद्य एवं आपूर्ति इंस्पेक्टर को किया निलंबित

41 Views
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जन संवाद कार्यक्रम में आमजन की सुनवाई के दौरान दिए निर्देश
  • जन संवाद कार्यक्रम में 600 से ज्यादा शिकायतें पहुंची, मौके पर ही किया समाधान
  • वरिष्ठ नागरिक की शिकायत पर सीएमओ को दी नसीहत, कहा डॉक्टर होने के नाते आपके अंदर सेवा का भाव और ज्यादा हो
  • मिर्जापुर गांव निवासी की शिकायत पर बिजली निगम द्वारा लगाए गए 32 हजार रुपये के जुर्माने को मुख्यमंत्री राहत कोष से देने के निर्देश, कनेक्शन तुरंत शुरू होगा

फरीदाबाद : मुख्यमंत्री मनोहर लाल फरीदाबाद में आयोजित जन संवाद कार्यक्रम में एक्शन मोड में दिखाई दिए। इस दौरान उन्होंने जन संवाद कार्यक्रम में शिकायत देने वाले सोतई गांव निवासियों पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाने वाले खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के इंस्पेक्टर सतनारायण को तुरंत प्रभाव से निलंबित करने के आदेश भी दिए। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कोई भी अधिकारी अगर समय पर काम नहीं करता अथवा काम चोरी करता है तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारी संवेदनशील होकर काम करे और आमजन को समय पर सेवाएं उपलब्ध कराएं।

इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर मनोहर लाल ने बताया कि जन संवाद कार्यक्रम में 600 से ज्यादा शिकायतें पहुंची हैं। इनमें से 158 नगर निगम की, 89 पुलिस की शिकायतें हैं। उन्होंने कहा कि यह शिकायतें संबंधित विभागों को भेजकर समाधान करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कुछ शिकायतों का स्थानीय स्तर पर समाधान किया गया है और बाकी का मुख्यालय स्तर पर अध्ययन कर समाधान किया जाएगा। दिव्यांगों व बुजुर्गों की पेंशन की समस्या को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि परिवार पहचान पत्र के माध्यम से सभी का सत्यापन किया जा रहा है। जल्द ही लोगों को पेंशन मिलनी शुरू हो जाएगी। उन्होंने मौके पर ही एक दिव्यांगजन राजेंद्र सिंह व एक बुजुर्ग रतन सिंह को 2500-2500 रुपये नकद पेंशन भी दी। उन्होंने कहा कि आपको अगले माह से समय पर पेंशन मिलेगी। उन्होंने बिजली की एक शिकायत पर दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम और बीपीटीपी बिल्डर के बीच सामंजस्य बनाकर प्राथमिकता से समस्या का निदान करने के आदेश दिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि दो पक्षों के विवाद में आमजन को परेशानी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने एसडीएम की अध्यक्षता में इसके लिए एक कमेटी गठित करने के निर्देश भी दिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने बिजली निगम द्वारा मिर्जापुर गांव के त्रिलोक चंद का कनेक्शन काटने व 32 हजार रुपये का जुर्माना करने के एक मामले का निपटारा भी किया। उन्होंने कहा कि 32 हजार रुपये का जुर्माना मुख्यमंत्री राहत कोष से दिया जाएगा और बिजली निगम तुरंत कनेक्शन जोड़े।

एडेल डिवाइन सोसायटी सेक्टर-76 के अभिषेक की समस्या का निदान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां 100 से ज्यादा परिवार रहते हैं। ऐसे में निवासियों को कमर्शियल रेट की बजाए घरेलू रेट पर ही बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। इस दौरान एक दिव्यांगजन की शिकायत पर सीएमओ को नसीहत देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आप डॉक्टर हैं और आपको ज्यादा सेवा भाव से काम करने की जरूरत है।

इस दौरान जन संवाद में अपने पोता-पोती व नाती-नातिन की पेंशन बनवाने के लिए फरियाद लेकर पहुंचे बुजुर्ग राम सिंह की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने अनाथ बच्चों को पेंशन के साथ-साथ एक लाख रुपये की सहायता राशि भी यथाशीघ्र देने के निर्देश दिए। नागेंद्र राय द्वारा एक निजी स्कूल के खिलाफ दी गई शिकायत पर कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि अगर स्कूल ने 134ए के तहत दाखिला दिया है तो स्कूल पढ़ा क्यों नहीं रहा है? इस पर स्कूल के खिलाफ 134ए के तहत नोटिस जारी कर कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही प्रदूषण मानकों को लेकर मिली कुछ शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिए कि एक महीने के अंदर सर्वे कर इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने नगर निगम में जनगणना में गड़बड़ी के मामले में कहा कि जनगणना में किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं की गई है। इसलिए सरकार द्वारा परिवार पहचान पत्र बनाया जा रहा है ताकि प्रत्येक व्यक्ति की जानकारी सरकार के पास हो। जिला के एक गांव की पंचायत का रिकॉर्ड सरपंच द्वारा गायब किए जाने के मामले में पुलिस को आदेश दिया कि इस मामले की जांच कर तुरंत कार्रवाई करें और एफआईआर भी दर्ज करें। इसके साथ ही प्याला गांव निवासी सुमन भाटिया को बिजली की हाईटेंशन लाइन के नीचे बने मकान की ऊपरी मंजिल हटाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि बिजली की लाइनें राष्ट्रीय महत्व की होती हैं। मुख्यमंत्री ने इस दौरान अलग-अलग विभागों की जनसुनवाई के लिए स्थापित पांच शिकायत केंद्रों पर जाकर भी लोगों की शिकायतें सुनी।

जनसंवाद कार्यक्रम के उपरांत मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने अधिकारियों के साथ ग्रीन फील्ड कॉलोनी का दौरा किया और कॉलोनी में सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए अधिकारियों को निर्देश भी दिए कॉलोनी वासियों ने दशकों से चली आ रही समस्या के त्वरित निदान के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद भी किया

इस अवसर पर केंद्रीय ऊर्जा एवं भारी उद्योग राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक सीमा त्रिखा, विधायक नरेंद्र गुप्ता, विधायक नयनपाल रावत, विधायक राजेश नागर, मुख्यमंत्री की राजनैतिक सचिव अजय गौड़, भाजपा जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, जेजेपी जिलाध्यक्ष राजेश भाटिया, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव व महानिदेशक सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग डॉ. अमित अग्रवाल, शहरी स्थानीय निकाय के निदेशक डीके बेहरा, मुख्यमंत्री के एडवाइजर पब्लिक सिक्योरिटी, ग्रीवांस एंड गुड गवर्नेंस अनिल राव, मंडल आयुक्त पंकज यादव, पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा, उपायुक्त विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त जितेंद्र दहिया, एचएसवीपी प्रशासक डा. गरिमा मित्तल, स्मार्ट सिटी के सीईओ कृष्ण कुमार, एडीसी अपराजिता, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य, मीडिया कोऑर्डिनेटर मुकेश वशिष्ठ सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *