धान की पराली जलाने वाले किसानों के साथ सख्ती से निपटें: मुख्य सचिव संजीव कौशल

33 Views
  • खरीफ फसल अवशेषों को जलाने से रोकने, निगरानी व जुर्माने के लिए कमेटी गठित: डीसी विक्रम

फरीदाबाद, 21 अक्टूबर। हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार पराली जलाने वाले किसानों के साथ अधिकारी सख्ती से निपटें। उन्होंने कहा कि कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अधिकारी गावों में पैट्रोलिंग करके इस बारे अपडेट रहें। जो किसान धान की पराली जलाते हैं उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लाना सुनिश्चित करें।

डीसी विक्रम ने बताया कि खरीफ सीजन के दौरान फसल अवशेषों को जलाने से रोकने, निगरानी व जुर्माने के लिए राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जिला फरीदाबाद में जिला स्तर, सब-डिवीजन स्तर, ब्लॉक स्तर व ग्राम स्तर पर कमेटियां गठित की गई है। ये कमेटियां जिला फरीदाबाद में राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा जारी हिदायतों अनुसार अपने-अपने क्षेत्र में कार्य कर रही हैं।

डीसी विक्रम ने आगे बताया कि जिला लेवल कमेटी में जिला राजस्व अधिकारी, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी, उप-निदेशक कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, जिला पोल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के रीजनल अधिकारी को सदस्य के तौर शामिल किया गया है। इसी प्रकार सब्डिविजन लेवल की कमेटी में सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, एसएचडीओ, सब-डिवीजनल अभियंता पोल्यूशन कंट्रोल बोर्ड को सदस्य के तौर पर नियुक्त किया गया है।

इसी प्रकार ब्लॉक लेवल की कमेटी में खंड कृषि अधिकारी, नायब तहसीलदार संबंधित ब्लॉक और सम्बधित खंड विकास अधिकारी को दायित्व सौंपा गया है।

डीसी विक्रम ने आगे बताया कि राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल की हिदायतों के अनुसार ग्राम स्तर पर बनाई गई कमेटी में ग्राम पंचायत के सरपंच, ग्राम कृषि विकास अधिकारी, राजस्व विभाग के पटवारी और पंचायत विभाग के सचिव को सदस्य के तौर पर शामिल किया गया है।

विडियो कान्फ्रेंस में एसीपी कुशल सिंह, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की जिला सांख्यिकी अधिकारी डॉ. संगीता सिंह सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Spread the love