बिजली उपभोक्ताओं को समय पर सुविधा देना हमारी प्राथमिकता: बिजली मंत्री रणजीत सिंह

29 Views
  • कहा, एसडीओ ने उपभोक्ताओं का तीन बार फोन नहीं उठाया तो नोटिस मिलेगा, पांच बार न उठाने पर चार्जशीट और इसके बाद भी लापरवाही मिली तो सस्पेंड की कार्रवाई होगी
  • उद्योगपतियों, आरडबल्यूए प्रतिनिधियों व गणमान्य लोगों से बिजली दरबार में रूबरू हुए बिजली मंत्री रणजीत सिंह, पीएस पावर वी उमाशंकर, डीएचबीवीएन एमडी पीसी मीणा व अन्य सभी अधिकारी
  • कहा, हरियाणा में बिजली की स्थिति में बेहतरीन सुधार, डिस्कॉम की सूची में पहले हम 15-15 नंबर पर थे अब 5-6 पर पहुंचे

फरीदाबाद, 16 दिसंबर। बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि बिजली उपभोक्ताओं को समय पर बेहतरीन सुविधाएं देना हमारा लक्ष्य है। आज हरियाणा में बिजली की स्थिति में बेहतरीन सुधार भी हुआ है और हमें इस सुधार को और अधिक बेहतर करना है। उन्होंने कहा कि हम अपने उपभोक्ताओं की जरूरत पर दिन-रात खड़े हैं। अगर किसी उपभोक्ताओं को कोई समस्या है और वह संबंधित एसडीओ को फोन लगाता है और वह तीन बार फोन नहीं उठाता तो उसे नोटिस जारी कर जवाब मांगा जाएगा। यही एसडीओ अगर पांच बार किसी का फोन नहीं उठाता तो चार्जशीट करेंगे और फिर भी सुधार नहीं हुआ तो उसके बाद सस्पेंड करने तक की कार्रवाई की जा सकती है। बिजली मंत्री रणजीत सिंह शुक्रवार को सेक्टर-12 स्थित कन्वेंशन सेंटर में बिजली दरबार के दौरान जिला के प्रमुख उद्योगपतियों, औद्योगिक एसोसिएशनों व आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधियों से रूबरू थे।

बिजली मंत्री ने कहा कि जब वह 1987 में मंत्री बने थे तो कानपुर, गाजियाबाद के बाद फरीदाबाद का बड़े औद्योगिक क्षेत्रों में नाम आता था। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि एक बार फिर से फरीदाबाद इस ऊंचाई को छुए। उन्होंने कहा कि इस विकास में आईटी के साथ-साथ बिजली का भी बड़ा योगदान है और हम इसके लिए उद्योगपतियों के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि बिजली ऐसी सुविधा है जो 100 प्रतिशत लोगों को चाहिए। उन्होंने कहा कि आज हरियाणा में बिजली वितरण और उपलब्धता में जबरदस्त सुधार हुआ है। पहले हम डिस्कॉम की सूची में 15-16 नंबर पर थे और आज हम 5-6 नंबर पर हैं। उन्होंने कहा कि हमने आज 24 घंटे बिजली देना का काम किया है और हम कोशिश कर रहे हैं कि गुजरात की तरह एक्सप्रेस फीडर उपलब्ध करवाएं। उन्होंने कहा कि यह काम करने में अभी समय लगेगा लेकिन हम लगातार इस तरफ आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज फरीदाबाद, गुरुग्राम व रेवाड़ी प्रदेश का सबसे बड़ा औद्योगिक हब है और यहां लगातार उद्योगों की संख्या बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि जब भी कहीं बड़ा उद्योग आता है तो वहां बिजली की संभावनाएं सबसे पहले देखता है। किसानों को लेकर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार अगले दो महीने तक उन्हें आठ की बजाए दस घंटे तक बिजली दी जाएगी। उन्होंने सभी उद्योगपतियों से समस्याएं भी जानी और उनके जवाब भी दिए।

इस दौरान मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव व पीएस पावर वी उमाशंकर व दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के एमडी पीसी मीणा ने क्रमश: सभी उद्योगपतियों द्वारा रखी शिकायतों व समस्याओं के जवाब दिए। श्री वी उमाशंकर ने एक उपभोक्ताओं के सवाल का जबाव देते हुए कहा कि जब औद्योगीकरण होता है तो वहां बिजली वितरण व्यवस्था सुदृढ़ करने की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि इसके लिए ट्रांसमिशन लाईनों की जरूरत होगी है। उन्होंने कहा कि इसके लिए फिलहाल सिंगल पोल सिस्टम पर बड़ी लाईनों की व्यवस्था की जा रही है। आईएमटी में एसडीओ की लगातार सीटिंग को लेकर उन्होंने कहा कि सप्ताह में अब तीन दिन यहां एसडीओ की सीटिंग रहेगी। बिजली निगमों में स्टाफ की कमी को लेकर उन्होंने बताया कि हरियाणा कौशल विकास निगम के जरिए हम जल्द जल्द इस समस्या का समाधान करेंगे। इसके अलावा स्थाई भर्ती को कॉमन एंट्रेंस टेस्ट की एक परीक्षा हो चुकी है।

उन्होंने आरडबल्यूए में सिंगल मीटर पर बिजली वितरण व अव्यवस्था को लेकर कहा कि जल्द ही इसको लेकर कार्य किया जा रहा है। इस अवसर पर तिगांव से विधायक राजेश नागर, पृथला से विधायक नयनपाल रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, नगर निगम आयुक्त, अतिरिक्त उपायुक्त अपराजिता, सीटीएम अमित मान, चीफ इंजीनियर नीरज आहुजा, अनिल शर्मा, एसई नरेश कक्कड़, एसई अतुल अग्रवाल, एक्सईएन सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

Spread the love