ऊर्जा संरक्षण जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित

70 Views

फरीदाबाद : राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा फरीदाबाद की सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड, जूनियर रेडक्रॉस और गाइड्स ने प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा की अध्यक्षता में ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी द्वारा निर्देशित ऊर्जा संरक्षण जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित की। सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड प्रभारी और जूनियर रेडक्रॉस काउन्सलर प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि ऊर्जा मंत्रालय के अधीन ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी द्वारा प्रत्येक वर्ष ऊर्जा संरक्षण के लिए युवाओं को मोबिलाइज किया जाता है तथा लोगों के बीच ऊर्जा संरक्षण और ऊर्जा दक्षता के महत्व के साथ-साथ जलवायु परिवर्तन शमन के लिए समग्र विकास के लिए जरुरी समग्र प्रयासों के लिए जागरूकता बढ़ाने के लिए विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है।

प्राचार्य मनचंदा ने कहा कि ऊर्जा दक्षता ब्यूरो एक संवैधानिक निकाय है जो भारत सरकार के अंतर्गत ऊर्जा उपयोग को कम करने के लिए नीतियों और रणनीतियों के विकास में सहायता करता है। भारत में ऊर्जा संरक्षण अधिनियम को वर्ष 2001 में ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी द्वारा निष्पादित किया गया था। क्योंकि हमारे बच्चे और युवा देश का भविष्य हैं। और बच्चों को शिक्षित करने और उन्हें ऊर्जा बचाने के उपाय सिखाने से अच्छा कोई विचार नहीं हो सकता। ऊर्जा के संरक्षण के बारे में बात करते समय न्यून ऊर्जा का उपयोग करना, पुन: उपयोग करना व पुनर्चक्रण के विषय में अवगत कराना हैं। टेलीविज़न, रेडियो और कंप्यूटर मॉनीटर और चार्जिंग डिवाइस अपेक्षा से बहुत अधिक ऊर्जा की खपत करते हैं। हमें इनका बुद्धिमता पूर्वक उपयोग करना चाहिए। अनावश्यक ऊर्जा से निपटने का एकमात्र उपाय यह है कि उपयोग में न होने पर इन उपकरणों को बंद कर दिया जाए। ऊर्जा दक्षता का आशय ऐसी प्रद्योगिकियों के प्रयोग से है जिनमें समान कार्य करने के लिये अपेक्षाकृत कम ऊर्जा की आवश्यकता होती है। ऊर्जा कुशल शैली अपनाने से भारत को ऊर्जा प्रणाली को बेहतर बनाने के लिये एक सकारात्मक प्रेरणा मिलेगी। ऊर्जा दक्षता हस्तक्षेप कम कार्बन संक्रमण हेतु सबसे न्यून लागत और प्रभावी साधनों में से एक है।

प्रिंसिपल रविंद्र कुमार मनचंदा और एक्टिविटीज कॉर्डिनेटर गीता ने एसजेएबी सदस्य ऊर्जा संरक्षण पेंटिंग प्रतियोगिता में साहिल को प्रथम, अंजली को द्वितीय तथा नीशू को तृतीय घोषित किया तथा प्राध्यापिका प्रज्ञा, मुक्ता, रजनी, सुशीला, प्राध्यापक कैलाश चंद्र, दिनेश सहित सभी अध्यापकों और प्रतिभागी छात्र छात्राओं का ऊर्जा संरक्षण के लिए जागरूक होने के लिए आभार व्यक्त किया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *