कार से युवती को 13 किलोमीटर तक घसीटने के मामले नया मोड़, हादसे के वक्त स्कूटी पर अकेली नहीं थी युवती

51 Views

दिल्ली : बाहरी दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके में नए साल की पूर्व संध्या पर कार से युवती को 13 किलोमीटर तक घसीटने के मामले नया मोड़ आ गया है। दिल्ली पुलिस की जांच में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। युवती की मौत के मामले में दिल्ली पुलिस का कहना है कि जब हमने मृतक युवती के रास्ते का पता लगाया, तो सामने आया कि वह अपनी स्कूटी पर अकेली नहीं थी। हादसे के वक्त उसके साथ एक और लड़की थी। उसे हादसे में हल्की चोट लगी थी। घटना के बाद वहघर चली गई थी।

लेकिन मृतक का पैर कार में फंस गया, जिसके बाद उसे आरोपी 13 किलोमीटर तक घसीटते हुए ले गए। मृतक के पैर कार के एक्सल में फंस गए थे।पुलिस ने लड़की को ट्रेस कर लिया है और उसका बयान भी दर्ज करेगी। लड़की का बयान मजिस्ट्रेट के सामने भी दर्ज होगा।

सुल्तानपुरी कांड के पांचों आरोपियों ने जब कंझावला रोड पर जोंटी गांव के पास कार रोकी तो उन्होंने युवती को कार में फंसा देखा। आरोपियों ने युवती को कार के नीचे से निकाला और उसे खुले आसमान के नीचे सर्दी में वहीं फेंककर चले गए। युवती के शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं था।

सुल्तानपुरी थाने में दर्ज एफआईआर (नंबर-2/23) में आरोपी अमित व दीपक ने कार मालिक आशुतोष को बताया है कि उन्होंने ज्यादा शराब पी रखी थी। उन्होंने किशन विहार में एक स्कूटी सवार युवती को टक्कर मार दी थी।

डर की वजह से वह मौके से फरार हो गए। आरोपियों ने यह नहीं देखा कि युवती कार में फंस गई है। दूसरी तरफ इस मामले में गृहमंत्रालय ने संज्ञान लिया और दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट मांगी है।

गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस से मांगी रिपोर्ट
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुल्तानपुरी कांड मामले में संज्ञान लिया है। गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट मांगी है। दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा ने विशेष पुलिस आयुक्त शालिनी सिंह की देखरेख में विशेष टीम गठित की है। दिल्ली पुलिस इस मामले में जल्द ही दिल्ली पुलिस को रिपोर्ट देने जा रही है।

कार की चेसिस में काफी खून व स्किन लगा मिला
रोहिणी स्थित फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) ने आरोपियों की कार का निरीक्षण किया है। कार की चेसिस में ड्राइवर के बगल वाली सीट की तरफ आगे से पीछे तक कार के नीचे खून ही खून लगा मिला है। कार के नीचे स्किन के हिस्से मिले हैं। काफी मात्रा में खून मिला है। एफएसएल के अधिकारियों के अनुसार, युवती कार की अंडर बॉडी पार्ट्स में फंस गई थी। कार से बीड़ी व सिगरेट मिले हैं।

सुल्तानपुरी कांड : पुलिस ने जोड़ी गैर-इरादतन हत्या व आपराधिक षड्यंत्र की धारा
बाहरी दिल्ली के सुल्तानपुरी इलाके में नए साल की पूर्व संध्या पर कार से युवती को 13 किलोमीटर तक घसीटने के मामले ने राजधानी ही नहीं, पूरे देश को शर्मसार कर दिया है। भारी संख्या में पुलिस गश्त पर होने के बावजूद इस तरह की शर्मसार करने वाली घटना सामने आने के बाद व एफआईआर में हल्की धारा जोड़ने के बाद दिल्ली के लोगों का सोमवार को गुस्सा फूट पड़ा

भारी संख्या में लोगों ने सुल्तानपुरी थाने के सामने घंटों प्रदर्शन किया। इलाके में अर्द्धसैनिक बलों के अलावा पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। लोगों के गुस्से व उपराज्यपाल वीके सक्सेना की नाराजगी के बाद सुल्तानपुरी थाना पुलिस ने सोमवार को एफआईआर में धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) व 120 (आपराधिक षड्यंत्र ) जोड़ दी है।

दिल्ली पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व व्यवस्था-दो) डॉ. सागरप्रीत हुड्डा ने इस घटना को बहुत ही दुखद बताते हुए कहा कि आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाने के लिए विशेषज्ञों से कानूनी राय ली जा रही है।

कई नई सीसीटीवी फुटेज मिलीं
छानबीन के दौरान पुलिस को कई नई सीसीटीवी फुटेज भी मिलीं, जिनमें आरोपी कार से युवती को घसीटते हुए दिख रहे हैं। पुलिस इनको कब्जे में लेकर पड़ताल में जुटी है। एक फुटेज में आरोपी कार को यू-टर्न लेकर दूसरी ओर ले जाते हुए दिख रहे हैं।

वहीं घटना के बाद से परिवार बेटी के लिए इंसाफ की गुहार लगा रहा है। परिजनों का आरोप है कि यह महज एक सड़क हादसा नहीं बल्कि साजिश है। आरोपियों ने जानबूझकर उनकी बेटी की यह दुर्दशा की है।

घटना को लेकर सोमवार को परिजनों व स्थानीय लोगों ने सुल्तानपुरी थाने का घेराव भी किया। पुलिस ने किसी तरह परिवार को समझाने की कोशिश की। एहतियात के तौर पर थाने के बाहर अर्द्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है।

Spread the love