खेल को खेल की भावना से खेलना चाहिए : सुषमा गुप्ता

557 Views

फरीदाबाद, 16 सितम्बर। खेलों से व्यक्ति का सर्वांगीण विकास होता है। शिक्षा के साथ-साथ खेलकूद की गतिविधियों में भी बच्चों को अवश्य ही भाग लेना चाहिये। यह बात जिले के गांव प्रहलादपुर में आयोजित वालीबॉल प्रतियोगिता का शुभारम्भ करते हुए भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी चंडीगढ़ की कार्यकारिणी सदस्य एवं समाजसेविका सुषमा गुप्ता ने कही। श्रीमती गुप्ता ने उपस्थित खिलाडिय़ों व उनके अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि खेलों का जीवन में बहुत महत्व है। खेल को खेल भावना से खेलें इसमें अत्यधिक महात्वाकांक्षा न रखें, जिससे विजय प्राप्त करने के लिये किसी गलत रास्ते पर न जायें। इस मौके पर विजेता टीम को सुषमा गुप्ता ने 11 हजार रुपए का नकद पुरस्कार प्रदान किया।

इस मौके पर जिला जिला रेडक्रास सोसायटी के सचिव विकास कुमार ने कहा कि बच्चे प्रत्येक क्षेत्र में आगे आयें, चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो या खेल का क्षेत्र हो। उन्हांने कहा कि बच्चों को नियमित शिक्षा के साथ-साथ खेल शिक्षा भी आवश्यक है। प्रत्येक प्रतिभागी को प्रतियोगिता में खेल भावना के साथ खेलना चाहिये। उन्होनें कहा कि परिन्दों को मिलेगी मंजिल एक दिन, ये फैले हुये उनके पर बोलते है, वही लोग रहते हैं खामोश अक्सर, जमाने में जिनके हुनर बोलते हैं। इससे पूर्व सुषमा गुप्ता का गांव में पधारने पर सरपंच सुशीला भाटी ने फूलों के बुक्के देकर स्वागत किया। इस मौके पर जिला रेडक्रास सोसायटी के सचिव पुरुषोत्तम सैनी, कुलदीप रावत तथा हीरालाल आदि भी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

Spread the love