बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान में देश में हरियाणा का बजाए डंका : मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ अमित अग्रवाल

31 Views
  • कहा:- ग्राम स्तर पर करें कमेटिया गठित

फरीदाबाद, 08 नवंबर। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं सूचना जनसंपर्क भाषा एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग के महानिदेशक डॉ अमित अग्रवाल ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान में हरियाणा एक बार फिर देश में डंका बजाने का काम करना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं इस अभियान बारे हरियाणा की तारीफ कर चुके हैं। परंतु कोविड के कारण किन्ही कारणों से प्रदेश के कई जिलों में लिंगानुपात में काफी गिरवाट आई है। इस लिंगानुपात को सुधारने के लिए सभी विभागों के अधिकारी आपस में तालमेल करके ग्रास रूट पर कार्य करना सुनिश्चित करें। शहरों में आँगन बाङी स्तर और गावों में ग्राम स्तर पर कमेटियां गठित करें।

सूचना, जनसंपर्क, भाषा एवं सास्कृतिक कार्य विभाग के महानिदेशक डॉ अमित अग्रवाल गत सायं वीडियो कांफ्रेंस के जरिए जिला उपायुक्तो, पुलिस अधीक्षकों, स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को दिशा निर्देश दे रहे थे। डॉ अमित अग्रवाल ने कहा कि सभी जिलों के अधिकारी आपस में रणनीति बनाकर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के कार्य को गंभीरता से करें। इस कार्य को हल्के में ना लें। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश देते हुए कहा कि वे जो लोग अल्ट्रासाउंड सेंटर में भ्रुण लिंग की जांच आदि करते पाए जाते हैं, उनके खिलाफ तुरंत एक्शन लेना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पिछले 02 साल से प्रदेश में लिंगानुपात के क्षेत्र में कई जिलों में गिरावट आई है। इसके लिए संबंधित जिलों के डिप्टी कमिश्नर, पुलिस कप्तान, मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा जिला महिला एवं बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी आपस में तालमेल करके लिंगानुपात के बढ़ाने के कार्य को गंभीरता से करना सुनिश्चित करें। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों से कहा कि वह पुराने ढर्रे के साथ शक्ति से निपटें। डॉ अमित अग्रवाल ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ऐसी सूचनाओं को कार्यालयों से लिक ना होने दें।

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं सूचना जनसंपर्क भाषा एवं सास्कृतिक कार्य विभाग के महानिदेशक डॉ अमित अग्रवाल ने कहा कि जागरूकता कार्यक्रमों में भी ढील ना बरतें। पुराने ढर्रे पर अधिक से अधिक जागरूकता कार्यक्रम चलाएं ताकि लोगों में इसके प्रति और अधिक जागरूकता करके हरियाणा में लिंगानुपात में और भी बेहतर सुधार करना है।

उन्होंने सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए कि वह इसकी एक रणनीति बनाकर आपस में पुलिस, स्वास्थ्य और महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी तालमेल करके इस कार्य को बेहतर अमलीजामा पहनाना सुनिश्चित करें।

डीसी विक्रम सिंह ने फरीदाबाद वीडियो कॉन्फ्रेंस में बताया कि जिला फरीदाबाद में इस महीने में लिंगानुपात 897 है। उन्होंने बताया कि भ्रूण हत्या के 12 केसों की एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस व जिला स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ तालमेल करके बेहतर तरीके से इस बारे बेहतर क्रियान्वयन किया जाएगा। उन्होंने आगे बताया कि जागरूकता कार्यक्रम को भी आपस में तालमेल करके तेज गति दी जाएगी।

वीडियो कांफ्रेंस में अतिरिक्त उपायुक्त अपराजिता, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनय गुप्ता, महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी मीनाक्षी चौधरी, सीडीपीओ डॉ मंजु श्योरान, डीआईपीआरओ राकेश गौतम सहित बैठक से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Spread the love