हरियाणा के बस स्टैंड अब मंगल सेन बस पोर्ट के रूप में जाने जाएंगे : मनोहर लाल

53 Views
  • यात्रियों को सुरक्षित, सकुशल और किफायती परिवहन सुविधा देना ही सरकार का उद्देश्य
  • मुख्यमंत्री ने 130 करोड़ रुपए से नवनिर्मित अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण एनआईटी फरीदाबाद बस पोर्ट का किया उद्घाटन
  • पीपीपी मोड़ पर राज्य का पहला बस पोर्ट एनआईटी फरीदाबाद को समर्पित
  • बस स्टैंड एनआईटी फरीदाबाद अब डॉ. मंगल सेन बस पोर्ट के नाम से जाना जाएगा

फरीदाबाद, 28 अक्टूबर। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा की अध्यक्षता में एनआईटी फरीदाबाद में 130 करोड़ रुपए की लागत से नवनिर्मित डॉ. मंगल सेन बस पोर्ट का लोकार्पण करते हुए जिलावासियों को मनोहर सौगात दी। गौरतलब है कि एनआईटी फरीदाबाद में राज्य का पहला पीपीपी मोड़ पर बस स्टैंड (बस पोर्ट) फरीदाबाद एनआईटी क्षेत्र को समर्पित किया गया है। मुख्यमंत्री ने उद्घाटन अवसर पर बताया कि नवनिर्मित बस पोर्ट की तमाम कमर्शियल एक्टिविटी आने वाले कुछ दिनों में ही शुरू हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद एनआईटी के साथ ही अब प्रदेश में सामाजिक सहभागिता के साथ बल्लभगढ़, सोनीपत, करनाल के साथ-साथ जिला गुरूग्राम में दो नए बस पोर्ट बनाकर यात्रियों को सुखद वातावरण देने की दिशा में कदम बढ़ाए जा रहे हैं।

बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ मुहैया हो रही हैं परिवहन सेवाएं : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नए बस पोर्ट के उद्घाटन अवसर पर कहा कि हरियाणा की परिवहन सेवा देश की सर्वश्रेष्ठ परिवहन सेवाओं में से एक है। यात्रियों को सुरक्षित, सकुशल, किफायती और विश्वसनीय परिवहन सुविधा प्रदान करने के लिए हरियाणा सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश भर में यात्रियों को बेहतर आवागमन सेवाएं प्रदान कर रही है। बेहतर इंफ्रस्ट्रक्चर के साथ प्रदेश भर के विभिन्न बस स्टैंड का नवीनीकरण किया जा रहा है और एयरपोर्ट की तर्ज पर अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ हरियाणा में बस स्टैंड को अब बस पोर्ट के रूप में पहचान दी जा रही है ताकि यात्रियों को सुखद अनुभूति का अहसास हो।

मुख्यमंत्री ने कहा- अत्याधुनिक सेवा से परिपूर्ण बन रहे हैं अब बस पोर्ट :

मुख्यमंत्री ने एनआईटी फरीदाबाद क्षेत्र वासियों को बधाई देते हुए कहा कि 1980 के समय में उन्होंने सामाजिक जीवन की शुरुआत फरीदाबाद से की थी और तब यहां से टीन के शेड के बस स्टैंड से बस पकड़ कर तंग होते हुए दूसरे शहरों में वे जाते थे, ऐसे में आमजन की समस्या को समझते हुए उन्होंने डॉ.मंगल सेन से एनआईटी बस स्टैंड फरीदाबाद की स्थिति के बारे में अवगत कराया था और आज उनके साथ हुई बातचीत का सपना साकार हुआ है। ऐसे में डॉ. मंगलसेन की स्मृति को समर्पित करते हुए आज से नवनिर्मित एनआईटी बस स्टैंड को डॉ. मंगलसेन बस पोर्ट एनआईटी फरीदाबाद के रूप में जाना जाएगा। उन्होंने बताया कि इंटीग्रेटेड कंसोलिडेटेट कमांड सेंटर के जरिए फरीदाबाद एनआईटी का बस पोर्ट जुड़ेगा। साथ ही टिकट बुकिंग आनलाइन और बस की वर्तमान स्थिति भी पता लग सकेगी

इंटरस्टेट बस पोर्ट के रूप में विकसित किया एनआईटी फरीदाबाद बस स्टैंड :

मुख्यमंत्री ने कहा कि आमजन को बेहतर ढंग से परिवहन सेवा के रूप में यह अत्याधुनिक बस स्टैंड फायदेमंद रहेगा। उन्होंने कहा कि इंटरस्टेट बस पोर्ट के रूप में फरीदाबाद एनआईटी बस स्टैंड को विकसित किया जा रहा है। करीब चार एकड़ भूमि पर नवनिर्मित बस स्टैंड के निर्माण पर 130 करोड़ रुपये की लागत से आई है। आस-पास के गांवों के लोगों की जरूरतों को पूरा करने के अतिरिक्त, यह बस स्टैंड दिल्ली, चंडीगढ़, राजस्थान, उत्तरप्रदेश,उत्तराखंड व हिमाचल प्रदेश के शहरों की ओर यहां से यात्रा करने वाले यात्रियों को भी लाभान्वित करेगा। उन्होंने बताया कि सरकार अब अत्याधुनिक सेवाओं के साथ बेहतर प्रबन्धन पर फोकस करते हुए बस स्टैंड का निर्माण कर रही है।

सडक़ दुर्घटनाओं पर अंकुश के साथ रोडवेज में बढ़ा मुनाफा : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने उद्घाटन अवसर पर पत्रकारों से हुई बातचीत में बताया कि सुरक्षित सफर के दायित्व को राज्य परिवहन प्रभावी रूप से निभा रहा है। तथ्यों के अनुरूप जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि साल पूर्व के सालों में जहां रोडवेज बसों के कारण करीब 200 से अधिक एक्सीडेंट्स होते थे वहीं पिछले साल केवल 79 सडक़ दुर्घटनाओं के मामले सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि सडक़ दुर्घटनाओं पर अंकुश लगने के साथ ही अब प्रति किलोमीटर रोडवेज़ का मुनाफा भी बढ़ा है। अब राज्य परिवहन की बसों का मुनाफा 27.5 रूपये प्रति किलोमीटर से बढक़र 39 रूपये तक पहुंच गया है।

परिवहन मंत्री ने जताया मुख्यमंत्री का आभार :

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का स्वागत करते हुए अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित बस स्टैंड की सौगात देने पर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि इस बस स्टैण्ड का निर्माण पी.पी.पी. मोड़ पर निजी भागीदारी के द्वारा किया गया है। बस स्टैण्ड में यात्रियों के बैठने के लिए वातानुकुलित गैलरी बनाई गई है और साथ ही आरामदायक कुर्सियों का प्रावधान भी किया गया है। उन्होंने कहा कि अपने गंतव्यों की ओर जाने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए आधुनिक शौचालय, पीने के लिए आर.ओ. का शीतल जल, समान रखने के लिए क्लोक रूम, जलपान आदि की सुविधा उपलब्ध रहेगी और तथा पूर्ण बस स्टैण्ड सी.सी.टी.वी. कैमरे की निगरानी में रहेगा। इसके अलावा यात्रियों के वाहनों की पार्किंग के लिए बेसमेंट में करीब एक हजार गाडय़िों को खड़ी करने की व्यवस्था भी की गई है। उन्होंने कहा कि हरियाणा बनने के बाद प्रदेश में पूर्व में बसों की कमी थी लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने कार्यकाल में 5300 बसों की जरूरत को पूरा करते हुए बसों की संख्या में वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने हाल ही में हाई पावर कमेटी में 1300 नई बसों की खरीद को भी मंजूरी देते हुए बसों की संख्या यात्रियों के जरूरत अनुसार मुहैया कराने का सराहनीय निर्णय लिया है।

बस पोर्ट के उद्घाटन समारोह में बडख़ल से विधायक सीमा त्रिखा ने कहा कि इस प्रकार के विकासात्मक प्रोजेक्ट आमजन के हितों को मद्देनजर रखते हुए लिए जा रहे हैं जिससे सर्वांगीण विकास की दिशा में सरकार सराहनीय कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में अंत्योदय की भावना से कार्य हो रहे हैं और समाज के अंतिम व्यक्ति तक को लाभांवित करते हुए योजनाओं को मूर्त रूप दिया जा रहा है।

यह रहे मौजूद :

इस अवसर पर विधायक फरीदाबाद नरेंद्र गुप्ता, विधायक तिगांव राजेश नागर, पृथला से विधायक नयनपाल रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, सीएम के राजनीतिक सचिव अजय गौड, सीएम के मीडिया सलाहकार अमित आर्य, पूर्व मेयर सुमन बाला, परिवहन विभाग के प्रधान सचिव नवदीप सिंह विर्क, निदेशक डॉ. वीरेंद्र दहिया, पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा, डीसी विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त जितेंद्र दहिया, एडीसी अपराजिता, फरीदाबाद रोडवेज जीएम लेखराज, जीएम रेवाड़ी रवीश हुड्डा, जीएम नारनौल नवीन शर्मा, जीएम दीपक कुंडू, जीएम नूंह एकता चोपड़ा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

Spread the love