हरियाणा में चिर आयु स्वास्थ्य योजना अंत्योदय परिवारों के लिए होगी मील का पत्थर साबित : कृष्ण पाल गुर्जर

42 Views

– फरीदाबाद में केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने हरियाणा चिर आयु योजना के तहत वितरित किए गोल्डन कार्ड

– कहा, देश में फ्री में हो रहा है गरीबों की स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार

फरीदाबाद : भारत सरकार के भारी उद्योग और ऊर्जा विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा में चिर आयु स्वास्थ्य योजना अंत्योदय परिवारों के लिए मील का पत्थर साबित होगी। जिला फरीदाबाद में 141000 से अधिक परिवारों के 562000 से अधिक लोगों को इसका लाभ मिलेगा। इन सभी लोगों का साल में दो बार फ्री में स्वास्थ्य हेल्थ चेकअप किया जाएगा। जरुरत पड़ने पर इलाज भी फ्री में किया जाएगा।

केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने स्थानीय नागरिक अस्पताल बीके में हरियाणा चिर आयु योजना के तहत गोल्डन कार्ड वितरण कार्य का शुभारंभ कर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आयुष्मान भारत के तहत आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में देश में फ्री में गरीबों की स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार किया जा रहा है ।

केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि हरियाणा सरकार ने केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना का प्रदेश में विस्तार करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अंत्योदय परिवारों को चिर आयु योजना के रूप में लाभान्वित करने का सराहनीय कार्य किया है। उन्होंने कहा कि चिर आयु योजना स्वास्थ्य सेवा के रूप में अंत्योदय परिवारों को स्वास्थ्य लाभ देने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी।

केन्द्रीय राज्य मंत्री ने फरीदाबाद के नागरिक अस्पताल बीके में आज हरियाणा सरकार की आयुष्मान भारत स्वास्थ्य विस्तार योजना चिर आयु के तहत लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड वितरित करने उपरांत आयोजित समारोह में बोलते हुए कि हरियाणा में हर व्यक्ति को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिले, इसके लिए सरकार द्वारा लगातार स्वास्थ्य सेवाओं का सुदृढ़ीकरण और विस्तारीकरण किया जा रहा है। इसी कड़ी में एक कदम और आगे बढ़ते हुए हरियाणा सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रदेश के ऐसे जरूरतमंद परिवारों को भी लाभ देने की शुरुआत की है, जिसका नाम वर्ष 2011 के सामाजिक आर्थिक और जातिगत जनगणना (एसईसीसी) डाटा में दर्ज नहीं था। ऐसे सभी व्यक्तियों के आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डन कार्ड बनाये जा रहे हैं।

कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने वर्ष 2018 में आयुष्मान भारत योजना की घोषणा की थी, जिसका उद्देश्य देश में जरूरतमंद व वंचितों को स्वास्थ्य सुविधाएं देना था। हरियाणा में भी एसईसीसी सूची के अनुसार पात्र लाभार्थियों को इस योजना का लाभ दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा अधिक से अधिक गरीब परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मुहैया करवाने के उद्देश्य से बीपीएल परिवारों की वार्षिक आमदनी सीमा को 1.20 लाख रुपये से बढ़ाकर 1.80 लाख रुपये किया गया है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा में स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार हो रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने वर्ष 2018 में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की घोषणा की थी, जिसका उद्देश्य देश में जरूरतमंद व वंचितों को स्वास्थ्य सुविधाएं देना था। हरियाणा में भी एसईसीसी सूची के अनुसार पात्र लाभार्थियों को इस योजना का लाभ दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने अधिक से अधिक गरीब परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मुहैया करवाने के उद्देश्य से बीपीएल परिवारों की वार्षिक आमदनी सीमा को बढ़ाकर 1.80 लाख रुपए किया है।

विधायक सीमा त्रिखा ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आजादी अमृत महोत्सव की श्रृंखला में केंद्र व प्रदेश सरकार अंत्योदय की भावना के साथ काम करते हुए जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए उल्लेखनीय कदम बढ़ा रही हैं। इसी कड़ी में प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जन कल्याणकारी निर्णय लेते हुए मुख्यमंत्री राहत कोष से मिलने वाली सहायता को अब ऑनलाइन कर दिया है। अब जरूरतमंद व्यक्ति मुख्यमंत्री राहत कोष के तहत अनुदान के लिए ऑनलाइन स्वीकृति प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राहत कोष के तहत सरकार द्वारा दो दर्जन से अधिक बीमारियों को भी शामिल किया गया है जो आयुष्मान भारत योजना में कवर नहीं हो रही। उन्होंने कहा कि सरकार जनसेवा को समर्पित होकर योजनाओं को लागू कर रही हैं। जरूरतमंद व्यक्ति तक मुख्यमंत्री राहत कोष योजना को जल्द एवं समयबद्ध तरीके से लाभ पहुंचाने के लिए इसे अंत्योदय सरल पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन किया जा रहा है।

इस अवसर पर सीएमओ डॉ विनय गुप्ता, एसएमओ डॉ राजेश श्योकंद, एसएमओ डॉ राम भगत, डाक्टर सविता यादव, आयुष्मान भारत के योजना के जिला नोडल अधिकारी डॉक्टर विशाल सक्सेना सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Spread the love