रशिया की यूनिवर्सिटी ऑफ मकारिया के दीक्षांत समारोह में ब्रह्म प्रकाश गोयल को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया

30 Views

फरीदाबाद : विश्‍व रिसर्चर्स समिट-2023 के अंतर्गत रूस की यूनिवर्सिटी ऑफ मकारिया द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय समिट एवं डॉक्टोरल अवार्ड सम्मेलन का आयोजन इंडिया हैबिटेट सेंटर दिल्ली में आयोजित किया गया।

इस अवार्ड सेरेमनी में अतिथि के रूप में राज्यसभा सांसद डॉ.किरीट सोलंकी, डॉ. सच्चिदानंद मिश्रा (मेंबर सेक्रेटरी. आई सी पी आर. शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार, सीनेट मेंबर मकारिया यूनिवर्सिटी डॉ. प्रमोद कुमार राजपूत कैडिला फार्मा कंपनी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, डॉ. परीन सोमानी (लंदन), ओ.पी. सिंह (डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस. यूपी सेवानिवृत्त, डॉ. लैला (एम.ईरान), डा.संदीप मारवाह (चांसलर.आफ्ट यूनिवर्सिटी), चाल्र्स थामसन (आस्ट्रेलिया), श्रीमती एंका वर्मा( रोमानिया), श्रीमती हेना पैघम (अफगानिस्तान), रवि इंद्र सिंह (सीनेट मेंबर.पंजाबी यूनिवर्सिटी), जितेंद्र मणि त्रिपाठी ( डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस नई दिल्ली) मॉडर्न गु्रप ऑफ इंस्टीट्यूट्स इंदौर के समूह निदेशक डॉ पुनीत कुमार द्विवेदी आदि की गरिमामय उपस्थिति रही। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन एवं अतिथियों के स्वागत से हुआ। स्वागत भाषण सीडब्लूएसआई आर के निदेशक डॉ. अभिषेक पांडेय ने दिया।

रशिया की यूनिवर्सिटी ऑफ मकारिया के दीक्षांत समारोह में ब्रह्म प्रकाश गोयल को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया।

डॉक्टोरल अवार्ड सेरेमनी में (डॉक्टोरल ओथ) मकारिया विश्वविद्यालय के सीनेट मेंबर डॉ. राजपूत ने दिया। सीनेट मेंबर डा. राजपूत का स्वागत डा. नेहा शर्मा चौधरी (हेड एडमिशन मॉडर्न ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स)ने किया।

वरिष्ठ समाजसेवी एवं महाराजा अग्रसेन विवाह समिति के अध्यक्ष ब्रह्म प्रकाश गोयल को भी डॉक्टरेट(पी. एच. डी.) उपाधि से सम्मानित किया गया, सामाजिक कार्यों में विशेष तौर पर दहेज प्रथा व नारी स्वतंत्रता को ध्यान में रखकर परिचय सम्मेलन एवं सामूहिक विवाह लगातार 22 वर्षों से आयोजित करते आ रहे हैं, हजारों जोड़ों के शादी बंधन के संयोजक रहे। ब्रह्म प्रकाश गोयल का मानना है कि समाज से ही राष्ट्र का निर्माण होता है और समाज की यह बहुत बड़ी चुनौती है दहेज प्रथा और हमारे देश के युवाओं को स्वतंत्र रूप से एक-दूसरे की समझ को पहचान कर जीवन जीवन साथी चुनना चाहिए दहेज और शादी में आडंबरो के खिलाफ कई दशकों से मुहिम चलाने वाले श्री गोयल को उनके द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए मानद डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया।

रशिया की यूनिवर्सिटी ऑफ मकारिया के दीक्षांत समारोह में ब्रह्म प्रकाश गोयल को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया।

श्री गोयल से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि मेरी संस्था के लिए बहुत ही गौरव की बात है मकारिया यूनिवर्सिटी ने संस्था के कार्यों को ध्यान में रखकर मुझे सम्मान दिया उनके प्रति आभार प्रकट करता हूं और मेरे साथ जुड़े लोग फरीदाबाद वासियों व अन्य शहरों के लोगों के प्रति भी आभार प्रकट करता हूं और यह सम्मान मेरे अकेले का नहीं है मेरे साथ जुड़े संस्था के सैकड़ों युवा कार्यकर्ताओं, बुजुर्गों और समाज के वरिष्ठ सदस्यों का आशीर्वाद और सहयोग के कारण ही सम्मान प्राप्त कर सका इसके लिए मैं सभी लोगों का आभार प्रकट करता हूं। डॉ. पुनीत कुमार द्विवेदी (मॉडर्न ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स, इंदौर) के आभार ज्ञापन से कार्यक्रम का समापन हुआ।

Spread the love