क्राइम ब्रांच 48 की बड़ी कार्रवाई, चोरी के 6 मुकदमों में शामिल 2 शातिर चोरों को गिरफ्तार कर बरामद किए कीमती आभूषण

40 Views
  • आरोपियों के कब्जे से सोने की 10 अंगूठी, 5 चैन, 5 कंगन, 4 मंगलसूत्र, 4 ज्वेलरी सेट,3 कड़े, 1 हार, 1 कुंडल, चांदी की 1 पाजेब, वारदात में उपयोग 1 कोरोला व 1 होंडा एकॉर्ड गाड़ी, 10 नंबर प्लेट तथा 1 लाख 40 हजार रूपए नकद बरामद
  • आरोपी खाली फ्लैटों को अपना निशाना बनाते थे, जिन फ्लैट के दरवाजों पर धूल जमी होती थी उनकी डोरबेल बजाते थे और यदि घर में कोई नहीं होता था तो घर में घुसकर देते थे चोरी की वारदात को अंजाम

फरीदाबाद : डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा तथा एसीपी क्राइम सुरेंद्र श्योराण के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 48 प्रभारी राकेश सिंह की टीम ने चोरी की अनेक वारदातों में संलिप्त दो शातिर चोरों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में रंजीत उर्फ राज (35) तथा विमल उर्फ गोलू (26) का नाम शामिल है। आरोपी रंजीत उत्तर प्रदेश के रामपुर गांव का रहने वाला है और फिलहाल दिल्ली के छतरपुर में रह रहा था वहीं आरोपी विमल उत्तर प्रदेश के सरहेरा गांव का निवासी है। क्राइम ब्रांच की टीम ने 3 नवंबर को गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए चोरी की फिराक में घूम रहे आरोपियों को गुड़गांव फरीदाबाद मोड़ से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को अदालत में पेश करके 6 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें पुलिस रिमांड के दौरान आरोपियों ने कई खुलासे किए। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी बहुत ही शातिर किस्म के चोर हैं जो जुए, सट्टे और अय्याशी का शौक रखते हैं। आरोपी खाली पड़े फ्लैटों को अपना निशाना बनाते हैं। आरोपी सारा दिन चोरी की फिराक में घूमते हुए घरों की रेकी करते हैं और जिन फ्लैटों के दरवाजों पर धूल मिट्टी जमी होती है उसके घर की घंटी बजाते हैं। यदि कोई दरवाजा खुलता है तो वह किराए पर मकान लेने के बहाने से मकान देखते हैं और वहां से चले जाते हैं और यदि कोई दरवाजा नहीं खोलता तो आरोपी समझ जाते हैं कि फ्लैट खाली है और वह उसका ताला तोड़कर अंदर घुस जाते हैं तथा फ्लैट के अंदर के सारे कीमती आभूषण चोरी करके फरार हो जाते हैं।

क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपियों को चोरी की 6 वारदातों तथा दो पीओ के मुकदमों में गिरफ्तार किया है। चोरी की इन 6 वारदातों में पांच वारदातें डबुआ तथा एक वारदात सूरजकुंड एरिया में अंजाम दी गई है। क्राइम ब्रांच की टीम आरोपियों की धरपकड़ में लगी हुई थी जिन्होंने सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से आरोपियों की पहचान की और गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर आरोपियों को काबू कर लिया। आरोपियों के कब्जे से सोने की 10 अंगूठी, 5 चैन, 5 कंगन, 4 मंगलसूत्र, 4 ज्वेलरी सेट, 3 कड़े, 1 हार, 1 कुंडल, चांदी की 1 पाजेब, वारदात में उपयोग 1 कोरोला गाड़ी व 1 होंडा एकॉर्ड गाड़ी, 10 नंबर प्लेट तथा 1 लाख 40 हजार रूपए नकद बरामद किए गए। उक्त मुकदमों के अलावा आरोपियों के खिलाफ 18 मुकदमे गुरुग्राम तथा 5 मुकदमे दिल्ली में भी दर्ज है। आरोपियों को कई बार पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है और आरोपी कई बार जेल भी जा चुके हैं परंतु जेल से बाहर आने के बाद वह फिर से चोरी की वारदातों को अंजाम देना शुरू कर देते हैं। पुलिस पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपियों को अदालत में दोबारा पेश करके जेल भेज दिया गया है।

Spread the love