जिला स्तरीय बाल महोत्सव प्रतियोगिताओं के विजेता 500 बच्चों को किया सम्मानित

29 Views
  • प्रतियोगिताओं से बच्चों का सर्वांगीण विकास होता है “बच्चों की राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका होती है” – अतिरिक्त उपायुक्त
  • प्रतियोगिताओं से बच्चों के अंदर प्रतिभाओं का निखार होता है -सीईओ
  • मेवात के बच्चों में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं – मुकेश वशिष्ठ

नूंह : हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के दिशानिर्देशों वह जिला बाल कल्याण परिषद नूंह के उपायुक्त एवं अध्यक्ष अजय कुमार के कुशल नेतृत्व में बाल महोत्सव के कार्यक्रम में गत दिनों में चल रही प्रतियोगिताओं के लगभग 500 विजेता बच्चों को सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय बाल दिवस के अवसर पर स्थानीय शहीद लेफ्टिनेंट किरण शेखावत राजकीय महिला महाविद्यालय सालाहेड़ी नूंह में बतौर मुख्य अतिथि डॉ आनंद कुमार अतिरिक्त उपायुक्त ने दीप प्रज्वलित करके शुभारंभ किया। और कहा कि प्रतियोगिताओं से बच्चों में सर्वांगीण विकास होता है और साथ ही बच्चे राष्ट्र की धरोहर है राष्ट्र निर्माण में बच्चों का अहम योगदान होता है। बाल कल्याण परिषद बखूबी बच्चों के कल्याण का कार्य कर रही है। इसी कड़ी में कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के तौर पर पधारे प्रदीप अहलावत सीईओ जिला परिषद नूंह ने कार्यक्रम में शिरकत करके बच्चों को आशीर्वाद देते हुए कहा कि बच्चे देश के भविष्य हैं इनके अंदर संस्कार देना अभिभावकों व अध्यापकों का कार्य के साथ-साथ हर नागरिक का फर्ज बन जाता है कि इस तरह के कार्यक्रमों में भाग लेकर बच्चों का सर्वांगीण विकास करें।

कार्यक्रम की अध्यक्षता मुकेश वशिष्ट मीडिया कोऑर्डिनेटर मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार ने की और कहा कि बाल कल्याण परिषद बखूबी अपने कार्य को अंजाम दे रहा है! कार्यक्रम को देखने के पश्चात लग रहा है कि मेवात के बच्चे प्रतिभाशाली हैं और लगभग 500 विजेता बच्चों ने जो आज इस कार्यक्रम में भाग लिया है वह साधुवाद के काबिल है। कार्यक्रम संयोजक जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री ने आए हुए सभी अतिथियों का फूल माला एवं पुष्प गुच्छ देकर स्वागत और अभिनंदन किया। कार्यक्रम का मंच संचालन अशरफ मेवाती ने बखूबी निभाया।

इस अवसर पर सचिव रेड क्रॉस महेश गुप्ता, वरिष्ठ समाजसेवी जी एस मलिक, कॉलेज की प्राचार्य मधु अरोड़ा, जिला शिक्षा अधिकारी रामफल धनकड़, नवनिर्वाचित सरपंच युसूफ खान, तौफीक खान, प्रधानाचार्य सुशील कन्वा, डॉ गीता आर्य, शिव कुमार गुप्ता, जगमोहन प्राध्यापक, वह बाल भवन के कर्मचारी व अध्यापकगण अभिभावक व लगभग 600 बच्चों ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

Spread the love