15 साल पुराने डीजल चलित वाहन ऑटो, ट्रकों, टेम्पों, बसों को सडक़ों से हटाया जाए

288 Views

फरीदाबाद, 16 नवम्बर। नवदीप सेवा समिति ट्रस्ट द्वारा औद्योगिक नगरी फरीदाबाद को प्रदूषण और गंदगी मुक्त करने के लिए बीके चौक पर शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन के समर्थन में शहर की लगभग एक दर्जन से अधिक संस्थाएं जिनमें जिला टैक्स बार एसोसिएशन, शरद फाउण्डेशन, युवा ब्राह्मण संगठन, महाराजा अग्रसेन विवाह समिति, मानव जनहित एकता परिषद, यूथ सोसायटी, हरियाणा, अखिल भारत हिन्दू महासभा, अखिल भारतीय ब्राह्मण सभा, श्री हर्ष मानव सेवा ट्रस्ट, श्री हरिमानव सेवा ट्रस्ट, श्री बलराम मानव सेवा ट्रस्ट, मानव सेवा दल, जयहिन्द सेवा दल, गढ़वाल सभा, सैक्टर-52 आरडब्ल्यूए ने प्रदूषण से हो रहे नुकसान और सरकार द्वारा सुस्त व लापरवाही पूर्ण रवैया अपनाने पर रोष प्रकट किया।

वहीं नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेशों के एनसीआर में 15 साल पुराने डीजल चलित वाहन ऑटो, ट्रेक्टर, ट्रकों, बसों को सडक़ों से हटाया जाए, लेकिन फरीदाबाद पुलिस इन आदेशों की पालना करने में पूरी तरह से विफल साबित हो रही है। गुरूग्राम पुलिस ने इन आदेशों की सख्ती से पालना की है। जिसके बाद वहां के अधिकतर यात्री वाहन फरीदाबाद में चल रहे है। जिससे प्रदूषण में काफी ईजाफा हो रहा है। जिस कारण स्मार्ट सिटी फरीदाबाद को ग्रहण लग गया है। सभी संगठनों का एक साथ एक ही मुद्दे पर सामाजिक हित में ही बैनर के नीचे रोष प्रकट करना अपने आप में तारीफ के काबिल है। सभी संस्थाओं द्वारा निर्णय लिया गया है कि अगर अब भी न चेती तो ऐसे प्रदर्शन बार-बार किए जाएगें।

प्रदर्शन करने वालों में नवदीप सेवा समिति ट्रस्ट के प्रधान यशपाल शर्मा, संदीप सेठी, मुकेश कौशिक, पंकज पाराशर, हेमलता शर्मा, सचिन तंवर, सुरेन्द्र शर्मा बबली, राजू बेदी, अमिता, प्रियंका कक्कड़, सुरेश सिंह, संजीव कुशवाहा, अमरजीत रंधावा, मनीषा शर्मा, वीना शर्मा, हनी बक्शी, अनिल दहिया, कपिल कौशिक, रमेश सिंह, भुवनेश्वर शर्मा, दीपक छाबड़ा, दीपक गेरा, विनय सिंह, राज शर्मा, लता, प्रवीण, नीलम, शैली बब्बर, राजवती, मंजू शर्मा, हेमलता, सीमा सहरावत, भूपेन्द्र सिंह, सौरभ वशिष्ठ, संजीत यादव, दीपक कुमार राजू दमोदर सहित अनेकों लोग शामिल थे। नवदीप सेवा समिति ट्रस्ट के प्रधान यशपाल शर्मा ने प्रदर्शन में शामिल होने वाली संस्थाओं के सभी पदाधिकारियों एवं सदस्यों का आभार जताया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Reply to “15 साल पुराने डीजल चलित वाहन ऑटो, ट्रकों, टेम्पों, बसों को सडक़ों से हटाया जाए”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *