हरियाणा में किसानों व गरीबों ने दिया भाजपा के खिलाफ जनादेश

423 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 26 अक्टूबर। हरियाणा विधानसभा चुनावों में हरियाणा प्रदेश के किसान वर्ग व गरीब वर्ग के लोगों ने भाजपा सरकार की किसान विरोधी व गरीब विरोधी नीतियों के कारण भाजपा के खिलाफ वोट देते हुए अपना जनादेश दिया! इस बारे में जुझारू व कर्मठ किसान नेता तथा राजनैतिक पृष्ठभूमि से जुड़े हुए चंद्रभान काजला से जब बात की गई तो उन्होंने ने बातचीत में बताया कि किसान विरोधी कारणों की वजह से हरियाणा प्रदेश में घमंडी भाजपा की केवल 40 सीट ही आई व जनता ने कांग्रेस को 31 सीट व जजपा को 10 सीटें तथा अन्यों को 9 सीटें दी यानि भाजपा सरकार की नीतियों के खिलाफ पूरे विपक्ष को 50 सीटें मिली!

चंद्रभान काजला ने भाजपा की किसान विरोधी नीतियों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि वर्ष 2014 से पहले 50 किलो यूरिया खाद के कट्टे का भाव जो 180 से 190 रूपये के बीच था वो अब 45 किलो यूरिया के कट्टे का रेट 375 रूपये है! इसी प्रकार डीएपी खाद के 50 किलो के कट्टे का रेट वर्ष 2014 में जो 800 रूपये था वो अब 2400 रूपये है! उन्होंने बताया कि डीजल के रेट भी पहले से काफी महंगे कर दिये गये! इसी प्रकार बिजली के रेट महंगे हैं! बीज भी पहले से ज्यादा महंगा है! भाजपा सरकार के दौरान हरियाणा में किसान की लागत तो बढ़ गई ज्यादा परंतु सरकार के द्वारा फसल का मुल्य दिया जा रहा है कम! भाजपा सरकार ने किसानों के साथ जुल्म करते हुए नहरों के पानी की सप्लाई खेती के लिए कम कर दी! वर्ष 2014 से पहले दो हफ़्ते नहर चलती थी व एक हफ़्ता बंद होती थी परंतु वर्ष 2014 के बाद भाजपा सरकार में अब नहर एक हफ़्ता चलती है व दो हफ़्ते बंद होती है! फसल के लिए पर्याप्त पानी नहीं दिया जाता!

चंद्रभान काजला ने हरियाणा के वर्तमान राजनैतिक घटनाक्रम पर चर्चा करते हुए बताया कि हरियाणा में जजपा पार्टी को भाजपा की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ संघर्ष करने के कारण जनता ने 10 सीटों पर जीता कर भेजा है! यदि जजपा पार्टी भाजपा के साथ सत्ता सुख के लालच में फंस कर हाथ मिलाती है तो यह हरियाणा प्रदेश के समूचे किसान वर्ग के साथ बड़ा भारी धोखा होगा! हरियाणा के गरीब तबके व दबे कुचले वर्ग के द्वारा भाजपा के खिलाफ जनादेश देने के बारे में जब गुरुग्राम के संघर्षशील व कर्मठ मजदूर नेता व द्रोण रेहड़ी पटड़ी एसोसिएशन के महासचिव राजेंद्र सरोहा से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि भाजपा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर केवल झूठे और ढोंगी मुख्यमंत्री हैं! अपने पिछले पांच साल के कार्यकाल में मनोहर लाल खट्टर ने पूरे हरियाणा में रेहड़ी पटड़ी व फेरी वालों के कल्याण व हितों के लिए कोई कार्य नहीं किया व मजदूर वर्ग की खुशहाली के लिए सस्ती शिक्षा व मैडिकल सुविधा नहीं दी गई!

राजेंद्र सरोहा ने गुरुग्राम के उद्योगों में काम करने वाले कर्मचारियों व मजदूरों की दुर्दशा के बारे में बताते हुए कहा कि यहां के उद्योगों में भारी आर्थिक मंदी की वजह से मजदूरों व कर्मचारियों की बड़ी भारी छटनी की जा रही है! हरियाणा सरकार इन कर्मचारियों व मजदूरों के हितों में किसी भी प्रकार की योजना को लागू नहीं कर रही! राजेंद्र सरोहा ने कहा कि हरियाणा सरकार की तरफ से रेहड़ी पटड़ी फेरी वालों व मजदूर भाइयों के बच्चों के लिए सस्ती व बढिय़ा शिक्षा का कोई इंतजाम नहीं किया गया! ये गरीब लोग जब अपने बीमार बच्चों को ले कर सरकारी अस्पतालों में जाते हैं तो इन्हें धक्के दे दिये जाते हैं व ईलाज के लिए इन गरीबों से लूट खसोट की जाती है! राजेंद्र सरोहा ने आगे प्रदेश के राजनैतिक घटनाक्रम पर चर्चा करते हुए बताया कि वर्तमान चुनाव में प्रदेश के गरीब व दबे कुचले वर्ग ने विपक्षी पार्टियों को वोट दे कर विपक्ष के 50 की संख्या में विधायक बनवाये हैं! यदि विपक्ष की कोई भी पार्टी गरीब विरोधी भाजपा के साथ मिल कर सत्ता का सुख भोगती है तो यह गरीबों के जनादेश के साथ बड़ा भारी धोखा होगा!

Spread the love