सोनल गोयल ने सफाई व्यवस्था और कूड़े के खत्तों का निरीक्षण किया

145 Views

फरीदाबाद, 25 अक्टूबर। नगर निगम की निग्मायुक्त सोनल गोयल ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के अंतर्गत शहर की सफाई व्यवस्था को और दुरूस्त करने तथा कलैक्षनों पाइंटों से कूड़ा उठवाने को लेकर इको ग्रीन कंपनी और निगम के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग की। जिसमें इको ग्रीन की ओर से एमडी जेन्ग चाऊ, मुख्य कार्यकारी अधिकारी लीसुपिंग, कार्यकारी अधिकारी विषाल शेखर, और उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय शर्मा, प्रोजेक्ट हेड रवि त्रिवेद्वी, अन्नत सूतो तथा नगर निगम के अधीक्षण अभियंता बीरेन्द्र कर्दम, स्वास्थ्य अधिकारी डा. उदयभान शर्मा, कार्यकारी अभियंता दीपक किंगर, श्याम सिंह, शामिल थे।

मीटिंग में निगमायुक्त ने इको ग्रीन कंपनी के अधिकारियों को शहर में जगह-जगह खत्तों में पड़े हुए कूड़े को उठाने के साथ-साथ शहर की सफाई व्यवस्था को और दुरूस्त करने के निर्देश दिए।  मीटिंग में इको ग्रीन कंपनी के अधिकारियों ने अपना एक्षन प्लान बताया कि हम जल्दी ही हर दो वार्ड के ऊपर एक मिन्नी ट्रांसफर स्टेषन बनाएंगे और प्रत्येक वार्ड में दो कलैक्षन पाइंट मैनटेन करेंगे। इसके लिए नगर निगम व इको ग्रीन के अधिकारी ज्वाइंट सर्वें करके स्थान चिन्हित करेंगे। मिन्नी ट्रांसफर स्टेषन व कलैक्षन सेंटर के लिए सर्वें का कार्य 30.10.2019 से शुरू हो जाएगा और मिन्नी ट्रांसफर स्टेषन और क्लैक्षन सेंटर को मौके पर लगाने का कार्य भी इको ग्रीन कंपनी द्वारा शीघ्र ही शुरू कर दिया जाएगा।

मीटिंग में निग्मायुक्त ने बताया कि नगर निगम के 40 वाडों में अनुमनित 20 मिन्नी ट्रांसफर स्टेषन होंगे और अनुमानित 80 कलैक्षन सेंटर होंगे जो कि क्षेत्रीय आवष्यकतानुसार बढ़ाए जा सकते है। इसके अतिरिक्त निग्मायुक्त ने इको ग्रीन के अधिकारियों को निर्देष दिए कि तुरंत प्रभाव से बंधवाड़ी सैनैट्री लैंड फील साइट पर एकत्रित पुराने कूड़े व रोजाना जा रहे ताजा कूड़े को ट्रीट करने का प्रोसेस/ट्रीटमेंट प्लांट तुरंत लगाए क्योंकि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के द्वारा पारित आदेष ओ.ए.ओ. नंबर-514 की पालना हो सके।

मीटिंग के उपरांत निग्मायुक्त सोनल गोयल ने इको ग्रीन के अधिकारियों और नगर निगम के अधिकारियों के साथ सफाई व्यवस्था और कूड़े के खत्तों का निरीक्षण किया। सबसे पहले उन्होंने ओल्ड फरीदाबाद जोन में ओल्ड सब्जी मण्डी और बराही तालाब के खत्तों का निरीक्षण किया और इको ग्रीन के अधिकारियों को कूड़े से भरे खत्तों का वास्तविक रूप दिखाया और उन्हें कड़ी फटकार लगाते हुए उनको तुरंत उठवाने के निर्देष दिए । इसके उपरांत उन्होंने अजरौंदा चैक के खत्ते का भी निरीक्षण किया उक्त खत्तें पर कार्य संतोषजनक न पाए जाने पर नाराजगी प्रकट की और इको ग्रीन कंपनी के अधिकारियों को अपने कार्यप्रणाली में सुधार और खत्तों से कूड़ा उठाने के सख्त निर्देष दिए।  उन्होंने इको ग्रीन कंपनी के अधिकारियों को 100 प्रतिशत डोर-टू-डोर सफाई व्यवस्था को लागू करने को भी कहा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *