समाज के गरीब बच्चों के शिक्षण में जुटी संस्था ड्रीम इंडिया

168 Views

फरीदाबाद, 22 नवम्बर। इस स्वार्थभरी दुनिया में जहां हर कोई एक-दूसरे से आगे बढऩे की होड़ में लगा हुआ है वहीं कुछ युवा ऐसे भी हैं जो अपनी भागदौड़ भरी दिनचर्या में से हर रोज कुछ समय निकालकर गरीब व जरूरतमंद बच्चों को निशुल्क पढ़ाकर समाज को और बेहतर बनाने में जुटे हुए हैं। ऐसी ही एक संस्था है ‘ड्रीम इंडिया-टु एजुकेटिड इंडिया’, जिसका गठन इसी वर्ष 3 फरवरी को कुछ उत्साही युवाओं ने मिलकर किया। संस्था ने बच्चों को निशुल्क पढ़ाने के उद्देश्य से सेक्टर-11 में एक सेंटर खोला, जहां हर शाम बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने के साथ-साथ अन्य गतिविधियां भी कराई जाती हैं।

इस सेंटर में शुरुआत में मात्र 21 बच्चे थे जो अब बढक़र 180 से ज्यादा हो गए हैं। वहीं संस्था के वालिंयटर की संख्या भी 50 से अधिक हो गई है। बच्चों की बढ़ती संख्या को देखते हुए संस्था ने अपना दूसरा सेंटर बल्लभगढ़ में स्थापित किया है जहां शनिवार-रविवार को बच्चों को पढ़ाया जाता है।  ‘ड्रीम इंडिया-टु एजुकेटिड इंडिया’ संस्था से जुड़ी रितु अरोड़ा बताती हैं कि उनकी संस्था में कोई बॉस नहीं है और सभी वालिंटयर एक-दूसरे की मदद से बच्चों को पढ़ाने, प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने व अन्य शैक्षणिक गतिविधियों से रूबरू कराते हैं तथा साथ ही यह भी ध्यान रखा जाता है कि उनका आत्मविश्वास कैसे बढ़ाया जाए। बच्चों को पेंटिंग, डांस व अन्य प्रतियोगिताओं के लिए भी तैयार किया जाता है।

उन्होंने बताया कि हाल ही में जेसी बोस यूनिवर्सिटी वाईएमसीए में हुए जश्न-ए-फरीदाबाद कार्यक्रम में भी उनके सेंटर के बच्चों ने हिस्सा लिया। सेंटर द्वारा बच्चों को योग व मेडिटेशन भी कराया जाता है तथा बेड टच-गुड टच आदि के बारे में सचेत किया जाता है वहीं उनके लिए स्वास्थ्य शिविर भी आयोजित किए जाते हैं। हाल ही में संस्था ने मूक बधिर बच्चों को सहायक उपकरण भी दिलवाए और स्कूल में एडमिशन का प्रबंध भी कराया। उन्होंने बताया कि इस नेक कार्य में मनसकृति स्कूल व सामाजिक संस्था सीएसआर-वुमेन्स विंग ऑफ विकास ग्रुप व आरडब्ल्यूए सेक्टर-11 आदि संस्थाएं भी उनका भरपूर सहयोग कर रही हैं, जिनकी मदद से हम बच्चों को शिक्षित करने में अपना कुछ सहयोग दे पा रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Reply to “समाज के गरीब बच्चों के शिक्षण में जुटी संस्था ड्रीम इंडिया”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *