विकास की पोल खोलती जर्जर सडक़ें

344 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 9 जनवरी। गुरुग्राम में विकास के नाम पर सडक़ों में जब गहरे गड्ढे देखने को मिलते हैं तो यहां की जनता परेशान हो कर पूछती है कि विकास के नाम जनता से लूटा हुआ पैसा कहां चला गया तो गली कूचों में फैली हुई गंदगी बड़े जोर से हंसती हुई व्यंग की भाषा में जवाब देती है कि जनता का पैसा तो भगवाधारी नेताओं की जेब में गया और हमें स्थाई रूप से बसने का लाइसेंस दे दिया गया! गंदगी की इतनी बात सुन कर जनता को असली माजरा समझ में आ गया कि बिन खर्ची बिन पर्ची की बात करने वाली भाजपा सरकार तो गंदगी के ढेरों को साफ करवाने के लिए भी पर्ची और खर्ची का खेल कर रही है यानि कि बिन सिफारिश की पर्ची और बिन खर्ची के कूड़ा कर्कट की सफाई व सडक़ों का सुधार नहीं किया जा रहा!

इन दिनों में सैंकड़ों खबरें यहां की सडक़ों की बदहाली की प्रकाशित हो चुकी हैं परंतु बड़ी हैरानी की बात है कि सरकार के अधिकारीयों व नेताओं के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही! सडक़ों पर गहरे गढ्ढों की वजह से आये दिन दुर्घटनायें होती रहती हैं और सडक़ों पर भारी जलभराव व सीवर ओवरफ्लो की समस्या के चलते ट्रैफिक का भारी जाम लगा रहता है जिस वजह से नौकरीपेशा लोगों को अपने काम धंधों पर जाने में बहुत दिक़्क़त होती है! कई कई बार शिकायत करने के बाद भी प्रशासन सडक़ें ठीक नहीं कर पा रहा! बहुत सी कालोनियों की व सेक्टरों की अंदरूनी सडक़ें काफी जर्जर हालात में हैं व सडक़ों के किनारे फुटपाथ पर गंदगी के ढेर लगे रहते हैं जिस से लोगों का पैदल चलना तो बिलकुल ही दूभर हो चुका है ! सडक़ों की दुर्दशा का एक ऐसा ही मामला गुरुग्राम के महावीर चौक के पास स्टेट बैंक के साथ लगती सडक़ पर देखने को मिला! यह सडक़ पटेल नगर और सेक्टर 15 पार्ट 2 को जा कर मिलती है!

स्टेट बैंक के साथ लगती यह सडक़ पिछले पांच सालों से बिलकुल कच्ची हालात में पड़ी हुई है व सडक़ कई जगह उबड़ खाबड़ है तथा कई जगह गढ्ढे भी हैं जिस वजह से यहां से गुजरने वाले लोगों को हमेशा दुर्घटना का डर लगा रहता है और गुजरने वाले लोगों को बारिश के समय में कीचड़ व गारा के बीच में से हो कर गुजरना पड़ता है! यहां के लोगों से जब बात की गई तो पता लगा कि इस सडक़ को पिछले पांच सालों से जानबूझ कर ठीक नहीं करवाया जा रहा! इस सडक़ की जर्जर हालात की वजह से पटेल नगर के लोगों को काफी दिक़्क़त का सामना करना पड़ रहा है!

यहां के पार्षद गुरुग्राम के उद्योगपति व व्यापारी सुभाष सिंगला हैं! लोगों का कहना है कि पिछले पांच वर्षों में यहां के पार्षद व विधायक ने इस सडक़ को ठीक करवाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया जब कि प्रदेश के मुख्यमंत्री यहां महीने में कई बार आते हैं और गुरुग्राम जिला की कष्ट निवारण समिति के अध्यक्ष स्वयं मुख्यमंत्री हैं! परंतु मुख्यमंत्री महोदय के सामने इस सडक़ की दुर्दशा का मामला इस वार्ड के पार्षद सुभाष सिंगला ने उजागर नहीं किया! पिछले महीने कष्ट निवारण समिति की जो बैठक हुई थी उस में पार्षद सुभाष सिंगला ने पटेल नगर की बिजली की तारों का मामला तो मुख्यमंत्री के सामने रखा था परंतु इस सडक़ की दुर्दशा का मामला मुख्यमंत्री को नहीं बताया गया! जनता का मानना है कि गुरुग्राम के कई वार्डों के पार्षद अपने वार्डों में विकास के कोई कार्य नहीं करवा रहे! इसी प्रकार सेक्टर चार की सडक़ों पर जलभराव व सीवर ओवरफ्लो की बहुत बड़ी समस्या है और आये दिन यहां की सडक़ों पर पानी भरा रहता है व लोगों को सडक़ से गुजरने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है! इसी तरह सेक्टर 38 में पिछले कई महीनों से पानी की सप्लाई में काफी ज्यादा कमी है और यहां के लगभग 300 घर भारी जलसंकट का सामना कर रहे हैं!

सडक़ों की इस दुर्दशा के बारे में जब गुरुग्राम के सोशल एक्टिविस्ट राजेश जैन से बात की गई तो उन्होंने बताया कि स्टेट बैंक के साथ लगती सडक़ जो पटेल नगर को जाती है पिछले पांच वर्षों से बिलकुल जर्जर अबस्था में है व नगर निगम के अधिकारी व पार्षद तथा विधायक ने भी पांच सालों में इस सडक़ को ठीक करवाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया! राजेश जैन का कहना है कि इस सडक़ के सही होने के बाद पटेल नगर व सेक्टर 15 पार्ट 2 के लोगों को सीधा इसी सडक़ से एमजी रोड़ पर जाने की सुविधा हो जायेगी! उन का कहना है कि प्रशासन इस सडक़ को जल्द से जल्द बनवाये ताकि यहां के लोगों के लोगों को आवागमन में दिक़्क़त ना हो!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

5 Replies to “विकास की पोल खोलती जर्जर सडक़ें”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *