‘‘लालटेन के जमाना गईल’ : नरेंद्र मोदी

114 Views

बिहार, 23 अक्तूबर ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में राजद सहित विपक्ष पर आरोप लगाया कि राज्य के विकास की हर योजना को अटकाने वाले विपक्ष ने अपने 15 साल के शासन में बिहार को लगातार लूटा और सत्ता को अपनी तिजोरी भरने का माध्यम बनाया। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता भ्रम में नहीं है और उसने आत्मनिर्भरता के लिये नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजग सरकार बनाने का मन बना लिया है।

प्रधानमंत्री ने बिहार में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार के लोगों ने मन बना लिया है, ठान लिया है कि जिनका इतिहास बिहार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी नहीं फटकने देंगे।’’

मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मंच साझा करते हुए आरोप लगाया कि जब बिहार के लोगों ने इन्हें (विपक्ष को) सत्ता से बेदखल कर दिया और नीतीश कुमार को मौका दिया तो ये बौखला गए और इसके बाद 10 साल तक इन लोगों ने संप्रग सरकार में रहते हुए बिहार पर, बिहार के लोगों पर अपना गुस्सा निकाला। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि इन लोगों को आपकी जरूरतों से कभी सरोकार नहीं रहा और इनका ध्यान अपने स्वार्थों एवं अपनी तिजोरी पर रहा है। उन्होंने कहा कि यही कारण है कि भोजपुर सहित पूरे बिहार में लंबे समय तक बिजली, सड़क, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं का विकास नहीं हो पाया।

मोदी ने कहा, ‘‘राजग के विरोध में इन लोगों ने मिलकर जो ‘पिटारा’ बनाया है, जिसे ये लोग महागठबंधन कहते हैं, उसकी रग-रग से बिहार के लोग वाकिफ हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग नक्सलियों को, हिंसक गतिविधियों को खुली छूट देते रहे, आज वे राजग के विरोध में खड़े हैं।’’

मोदी ने कहा, ‘‘आज राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सभी दल मिलकर आत्मनिर्भर एवं आत्मविश्वासी बिहार के निर्माण में जुटे हैं। बिहार को अब भी विकास के सफर में मीलों आगे जाना है। नई बुलंदी की तरफ उड़ान भरनी है।’’ प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान बिहार के लोगों को पूर्ववर्ती राजद सरकार के काल की कानून एवं व्यवस्था की स्थिति का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘आज बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन बिहार के नौजवानों को यह याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे?’’

लालू प्रसाद का नाम लिये बिना प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि 1990 के दशक में बिहार के लोगों का अहित किया गया, बिहार को अराजकता और अव्यवस्था के किस दलदल में धकेल दिया…. उसे आप में से अधिकांश लोगों ने अनुभव किया है। उन्होंने कहा, ‘‘आज भी बिहार की अनेक समस्याओं की जड़ में 90 के दशक की अव्यवस्था और कुशासन है।’’ उन्होंने कहा कि बिहार के लोग वे दिन भूल नहीं सकते, जब सूरज ढलते का मतलब होता था, सब कुछ बंद हो जाना, ठप पड़ जाना।

मोदी ने कहा कि लोग वे दिन नहीं भूल सकते, जब सरकार चलाने वालों की निगरानी में दिन-दहाड़े डकैती होती थी, हत्याएं होती थीं और रंगदारी वसूली जाती थी। यह वह दौर था, जब लोग गाड़ी इसलिए नहीं खरीदते थे, ताकि एक राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ताओं को उनकी कमाई का पता न चल जाए। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज बिजली है, सड़कें हैं और सबसे बड़ी बात, वह माहौल है जिसमें राज्य का सामान्य नागरिक बिना डरे रह सकता है, जी सकता है और अंधेरे से उजाले की ओर बढ़ना इसी को कहते हैं।

तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरियों के वादे पर सवाल उठाते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि जिन लोगों ने एक-एक सरकारी नौकरी को हमेशा लाखों-करोड़ों रुपये कमाने का जरिया माना, वह बिहार को ललचाई नजरों से देख रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘बिहार के नौजवानों को यह याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे?’’

गौरतलब है कि राजद नेता तेजस्वी यादव अपनी सभी रैलियों में रोजगार और विकास का मुद्दा उठा रहे हैं।

मोदी ने कहा, ‘‘मैंने बिहार के बहुत से लोगों के साथ करीब से काम किया है। उनसे बहुत कुछ सीखा भी है। बिहार के लोगों में एक बात जो बहुत अच्छी होती है, वह है उनकी स्पष्टता। वे किसी भ्रम में नहीं रहते ।’’ उन्होंने कहा कि बिहार अब विकास की ओर तेजी से बढ़ रहा है, अब बिहार को कोई बीमारू, बेबस राज्य नहीं कह सकता और लालटेन का जमाना चला गया। उन्होंने स्थानीय भाषा में कहा, ‘‘लालटेन के जमाना गईल’’ !

प्रधानमंत्री ने कहा कि जितने सर्वेक्षण हो रहे हैं, जितनी रिपोर्ट आ रही हैं, उन सभी में यही सामने आ रहा है कि बिहार में फिर एक बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि राजग की ‘दोहरे इंजन’ की सरकार ने बिहार में राष्ट्रीय राजमार्ग के विकास का काम किया। उन्होंने महिलाओं, युवा उद्यमियों और दुकानदारों को बिना गारंटी के ऋण सुविधा देने और प्रधानमंत्री पैकेज लागू करने सहित कई कार्यों का जिक्र किया । उन्होंने गया सहित बिहार के कई हिस्सों से नक्सली हिंसा से मुक्ति दिलाने के लिए उठाये गए कदमों का भी जिक्र किया । उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने में राजग सरकार की ओर से उठाये गए कदमों का भी जिक्र किया । उन्होंने अपने संबोधन के दौरान कारोना वायरस से डट कर मुकाबला करने के लिये बिहार की जनता को बधाई दी और गलवान घाटी एवं पुलवामा हमले में बलिदान देने वाले बिहार के जवानों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की ।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *