लखीमपुर खीरी जाने से रोकने पर धरने पर बैठे अखिलेश, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की मांग

213 Views

लखनऊ, 4 अक्टूबर : समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सोमवार को लखीमपुर खीरी जाने से रोके जाने के विरोध में धरने पर बैठ गए और उन्होंने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग की।

सपा प्रमुख को सोमवार सुबह लखीमपुर खीरी के लिए निकलना था लेकिन तड़के ही उनके घर के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। अखिलेश जब लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा में मारे गए किसानों के परिजन से मुलाकात के लिए जाने के वास्ते घर से बाहर निकले तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया। इसके बाद अखिलेश सड़क पर ही धरने पर बैठ गए।

इस दौरान पुलिस की एक गाड़ी में संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। अखिलेश ने आरोप लगाया कि पुलिस ने खुद अपनी गाड़ी जलाई है।

बाद में अखिलेश और सपा के मुख्य महासचिव रामगोपाल यादव को हिरासत में ले लिया गया। इसके विरोध में सपा कार्यकर्ता सड़क पर लेट गए।

धरने के दौरान संवाददाताओं से बातचीत में सपा अध्यक्ष ने कहा, “किसानों पर इतना अन्याय, इतना जुल्म अंग्रेजों ने भी नहीं किया जितना भाजपा की सरकार कर रही है।” उन्होंने कहा,‘‘ आखिरकार सरकार विपक्ष के किसी भी नेता को लखीमपुर खीरी क्यों नहीं जाने देना चाहती। सरकार आखिर क्या छुपाना चाहती है। यह सरकार इस बात से घबराती है कि जनता कहीं सच्चाई न जान जाए।’’ अखिलेश ने कहा, “भाजपा की सरकार पूरी तरह असफल हुई है। सबसे पहले गृह राज्य मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। इसके साथ-साथ उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को भी इस्तीफा देना चाहिए जिन्हें कानून व्यवस्था बिगड़ने की पूरी सूचना थी।” उन्होंने मांग की कि लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में जिन किसानों की मौत हुई है उनके परिजन को दो-दो करोड़ रुपए की मदद दी जाए, हर परिवार के एक-एक आश्रित को सरकारी नौकरी और किसानों पर गाड़ी चढ़ाकर उनकी हत्या करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया जाए।

अखिलेश ने यह भी कहा कि ‘‘केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने पिछले दिनों एक कार्यक्रम में जिस तरह किसानों को धमकाया वह सरकार के किसी मंत्री की भाषा नहीं हो सकती, वह पहले से ही किसानों को धमका रहे थे। ऐसा तो हिटलर शाही में भी नहीं हुआ होगा।’’ गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में रविवार को राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव जाने के विरोध के दौरान हुए संघर्ष में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी।

इस मामले को लेकर लखीमपुर खीरी जा रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा को सीतापुर में हिरासत में ले लिया गया। वहीं, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह को भी रास्ते में रोका गया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.