रिटायर्ड कर्नल के घर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए क्राइम ब्रांच 65 ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार

47 Views

फरीदाबाद : डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 65 प्रभारी ब्रहम प्रकाश की टीम ने 3 दिन पहले ओल्ड एरिया में आरोपियों द्वारा दी गई लूट की वारदात के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में अजमेर के रहने वाले प्रधान, मुकेश तथा गोलू का नाम शामिल है। आरोपी प्रधान अजमेर जिले के गांव सावर, आरोपी मुकेश गिनायडा तथा आरोपी गोलू बावला गांव का रहने वाला है। तीनों आरोपी अजमेर से दिल्ली एनसीआर एरिया में आते हैं और वहां पर सेक्टर कालोनियों में घूम घूमकर घरों की रेकी करते हैं तथा बंद मकान देखकर उसे अपना निशाना बनाकर उसमें चोरी तथा लूट की वारदात को अंजाम देते हैं।

इसी प्रकार आरोपियों ने 3 दिन पहले 18 अगस्त को फरीदाबाद के ओल्ड एरिया सेक्टर 19 के रहने वाले रिटायर्ड कर्नल सुनील के घर को अपना निशाना बनाया था। रिटायर्ड कर्नल सुनील अपना नया मकान ग्रेटर फरीदाबाद में बना रहे हैं इसलिए एक सप्ताह से उनके इस मकान को बाहर से ताला लगा रखा था और घर की देखभाल की जिम्मेवारी प्रथम मंजिल पर रहने वाली सहायिका आरती को दे रखी है। 18 अगस्त को आरोपियों ने देखा कि कर्नल के घर के बाहर ताला लगा हुआ है आरोपियों ने सोचा कि मकान मालिक बाहर गया हुआ है और घर पर कोई नहीं है तो उन्होंने मौका देखकर घर का ताला तोड़ दिया। आरोपी प्रधान बाहर निगरानी रखने लगा और आरोपी मुकेश तथा गोलू अंदर जाकर चोरी की वारदात को अंजाम देने लगे। उसी समय घर की केयर टेकर जो प्रथम मंजिल पर रह रही थी उसे मकान में तोड़फोड़ की आवाज सुनाई दी तो उसने आकर देखा तो आरोपी अलमारियां खंगाल रहे थे। सहायिका आरती ने हिम्मत दिखाई और आरोपियों को पकड़ने की कोशिश की परंतु आरोपियों ने आरती के साथ मारपीट की। आरती ने आरोपी गोलू को पकड़ लिया परंतु आरोपी ने आरती की कलाई पर दांत से काट लिया और जाते-जाते आरोपी घर से चोरी किए गए 4 हजार रूपए तथा 10 चांदी के सिक्के व शादी का सेहरा लेकर फरार हो गए।

पीड़ित की शिकायत पर पुलिस थाना ओल्ड में आरोपियों के खिलाफ लूट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की गई। डीसीपी क्राइम ने मामले की जांच की जिम्मेवारी क्राइम ब्रांच 65 को सौंपी। उप निरीक्षक ब्रह्म प्रकाश की अगुवाई में जांच के दौरान क्राइम ब्रांच की टीम को आरोपियों के खिलाफ अहम सुराग हाथ लगे। सीसीटीवी फुटेज तथा वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर पुलिस को आरोपियों के बारे में जानकारी प्राप्त हुई और क्राइम ब्रांच की टीम आरोपियों को पकड़ने के लिए जगह जगह रेड करने लगी। कड़ी मशक्कत के पश्चात क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले में शामिल तीनों आरोपियों को गुड़गांव से गिरफ्तार कर लिया।

प्राथमिक जांच में सामने आया कि आरोपी पिछले 2 साल से फरीदाबाद में इस प्रकार की 7 वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। मामले में गहनता से पूछताछ करने के लिए आरोपियों को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा और उनके कब्जे से लूट के पैसे तथा जेवरात बरामद किए जाएंगे तथा इससे पूर्व की गई चोरी तथा लूट की वारदातों का पर्दाफाश किया जाएगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.