रक्तदान करके बचाएं बहुमूल्य जान : प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा

92 Views

फरीदाबाद : गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल एन आई टी तीन फरीदाबाद की जूनियर रेडक्रॉस, गाइड्स और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड ने प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा की अध्यक्षता में छात्राओं और अध्यापकों को रक्तदान करने के लिए प्रेरित किया। जूनियर रेडक्रॉस और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड अधिकारी प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति जिस की आयु 18 वर्ष से लेकर 60 वर्ष तक की है मानवता के कल्याण हेतु रक्तदान कर सकता है। आपात स्थितियों में, शल्य चिकित्सा में, दुर्घटना में अधिक रक्त बहने पर, गर्भवती महिलाओं तथा अन्य कारणों से भी रक्त की आवश्यकता होती रहती है। रक्त का कोई भी विकल्प नहीं है न ही रक्त को आर्टिफिशियल बनाया जा सकता है। जब भी किसी को रक्त की आवश्यकता होती है तो हम में से किसी को तो रक्तदान करना ही होगा, अन्यथा पीड़ित अथवा रोगी का जीवन बचाना सरल नहीं होगा। युवा वर्ग से अपेक्षा की जाती रही है कि वे रक्तदान के लिए आगे आएं क्योंकि कोई भी स्वस्थ व्यक्ति वर्ष में चार बार तथा कोई भी स्वस्थ महिला वर्ष में तीन बार रक्तदान कर सकती है। चिकित्सकों का यह भी कहना है कि वर्ष में नियमित रूप से रक्तदान करने से व्यक्ति को ह्रदय संबंधी बीमारियों से प्रभावित होने का खतरा कम हो जात है।

प्राचार्य मनचंदा ने कहा कि विद्यालय की जूनियर रेडक्रॉस और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड भी 26 जुलाई को प्रातः नौ बजे से कारगिल विजय दिवस के अवसर पर भारतमाता के बलिदानी वीर सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए रक्तदान शिविर आयोजित कर रही हैं। इस रक्तदान शिविर में बी के जिला चिकित्सालय और संतों का गुरुद्वारा ब्लड बैंक से चिकित्सकों का दल एवम रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन सैक्टर 29 फरीदाबाद भी सहयोग कर रही है। उन्होंने सभी छात्राओं से कहा कि वे सभी अपने माता, पिता, भाई, बहन, संबंधियों और मित्रों को भी रक्तदान और रक्तदान शिविर के विषय में जागरूक करें ताकि आवश्यकता पड़ने पर किसी के भी बहुमूल्य जीवन की रक्षा की जा सके।

प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा, कोर्डिनेटर प्राध्यापिका मोनिका, शीतल, शर्मीला, गीता, मौलिक मुख्याध्यापिका पूनम, सूबे सिंह, संजय मिश्रा, तिलक तथा सभी अध्यापकों ने भी रक्तदान के लाभ बता कर वर्ष में एक बार अवश्य रक्तदान करने का अनुभव करने के लिए कहा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.