मेरा नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं है, सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा : राहुल गांधी

240 Views

नयी दिल्ली ! कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘रेप इन इंडिया’ वाली टिप्पणी पर भाजपा की ओर माफी की मांग किए जाने पर पलटवार करते हुए कहा कि उनका नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं हैं और वह सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगने वाले हैं। पार्टी की ओर से रामलीला मैदान में आयोजित ‘भारत बचाओ रैली’ में उन्होंने अर्थव्यवस्था की स्थिति, महिला सुरक्षा, कृषि संकट और बेरोजगारी को लेकर भी नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि भारत के दुश्मन अर्थव्यवस्था को नष्ट करना चाहते थे लेकिन इस काम को खुद देश के प्रधानमंत्री ने अंजाम दे दिया।

गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता, एक इंच पीछे नहीं हटता और देश के लिए अपनी जान देने के लिए तैयार रहता है।’’ ‘रेप इन इंडिया’ वाली टिप्पणी को लेकर भाजपा के हमले पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘संसद में भाजपा के लोगों ने कहा कि मैं अपने भाषण के लिए माफी मांगूं। मुझे कहते हैं कि सही बात बोलने के लिए माफी मांगो। मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा। मर जाऊंगा मगर माफी नहीं मांगूंगा औऱ न कोई कांग्रेस वाला माफी मांगेगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी को देश से माफी मांगनी है। उनके जो असिस्टेंट हैं, अमित शाह, उनको देश से माफी मांगनी है।’’ आर्थिक सुस्ती का हवाला देते हुए गांधी ने कहा, ‘‘इस देश की आत्मा, इस देश की शक्ति, इसकी अर्थव्यवस्था थी। पूरी दुनिया हमारी तरफ देखती थी। एक तरफ चीन दूसरी तरफ हिंदुस्तान, चिंडिया बोलते थे, चिंडिया। दुनिया का भविष्य चीन और इंडिया कहे जाते थे।’’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘आज, प्याज की कीमत 100 रुपए किलो से ज्यादा है, हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था नरेंद्र मोदी ने स्वयं अकेले नष्ट कर दी, खत्म कर दी।’’ गांधी ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कालाधन खत्म करने के नाम पर नोटबंदी की और आम लोगों के जेब से पैसे निकालकर कुछ उद्योगपतियों की जेब में डाल दिया।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हिंदुस्तान में आज है। कांग्रेस की सरकार में जीडीपी विकास दर 9 प्रतिशत होती थी, आज 4 प्रतिशत पर पहुंच गई है। वो भी उन्होंने जीडीपी नापने का तरीका बदला है। पुराने तरीके से जीडीपी नापो तो आज यह ढाई प्रतिशत है।’’ गांधी ने दावा किया, ‘‘ हिंदुस्तान के सब दुश्मन चाहते हैं और चाहते थे कि हिंदुस्तान की शक्ति, हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था नष्ट की जाए। यह काम दुश्मनों ने नहीं किया, बल्कि हमारे प्रधानमंत्री ने किया और फिर अपने आप को प्रधानमंत्री देशभक्त कहते हैं।’’

उन्होंने दावा किया, ‘‘इनको ये भी नहीं मालूम की हिंदुस्तान की रीढ़ की हड्डी हैं किसान, कितने किसानों ने अपनी जान ली, शर्म आनी चाहिए इनको।’’ कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘ मगर पूरे देश को मालूम है, पूरा देश जानता है, यहां हालत क्या है और फिर ये बांटने का काम करते हैं। एक धर्म को दूसरे धर्म से, जम्मू-कश्मीर में, पूर्वोत्तर में जाइए, असम जाइए, मिजोरम जाइए, नागालैंड जाइए, अरुणाचल प्रदेश जाइए, देखिए नरेंद्र मोदी ने क्या काम किया है। इन प्रदेशों को जला दिया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘देश को डराया जा रहा है, दबाया जा रहा है। कांग्रेस वाला तो कभी डरता नहीं है, कांग्रेस वाला बब्बर शेर होता है। मगर जो सरकारी दफ्तरों में बैठे हैं, जो मीडिया में बैठे हैं, उन लोगों से कह रहा हूं, आप डरो मत, आपके साथ कांग्रेस पार्टी खड़ी है। हमें मिलकर हिंदुस्तान के लिए लड़ना है। जो डर और नफरत का माहौल है, इस माहौल को हिंदुस्तान की जनता, कांग्रेस पार्टी, हम सब मिलकर मिटा डालेंगे।’’

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Reply to “मेरा नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं है, सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगूंगा : राहुल गांधी”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *