मुआवजा मिलने पर किसानों ने विधायक राजेश नागर का जताया आभार

77 Views

फरीदाबाद : ग्रेटर फरीदाबाद के किसानों ने वर्षों से रुके मुआवजा के मिलने पर विधायक राजेश नागर का आभार जताया। किसानों ने कहा कि विधायक राजेश नागर की पैरवी से उनके चेहरे पर मुस्कान लौटी है। वहीं विधायक राजेश नागर ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का धन्यवाद व्यक्त किया।

विधायक राजेश नागर ने उनके निवास पर धन्यवाद देने पहुंचे किसान संघर्ष समिति नहरपार फरीदाबाद के प्रधान जगबीर सिंह, महासचिव सत्यपाल नरवत व अन्य किसानों के बीच कहा कि इस बधाई के असली हकदार मुख्यमंत्री मनोहर लाल हैं। जिन्होंने तिगांव की प्रगति रैली में वादा किया था कि 15 अगस्त से पहले आपको मुआवजा मिल जाएगा, लेकिन उन्होंने दो महीने पहले ही आपको मुआवजा दे दिया है। मैं भी आप लोगों की ओर से मुख्यमंत्री जी का आभार व्यक्त करता हूं। किसानों ने विधायक राजेश नागर को मिठाई खिलाकर व गुलदस्ता देकर धन्यवाद किया।

इस अवसर पर विधायक राजेश नागर ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने वादे और इरादों के पक्के व्यक्तित्व हैं। गलत काम वह करते नहीं हैं और सही काम वह रोकते नहंी हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकारें सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय के लिए काम करती हैं। यही कारण है कि खेत के किसान से लेकर सीमा पर जवान तक के लिए योजनाएं बनती हैं और उन्हें इमानदारी से लागू भी करवाया जाता है। उन्होंने कहा कि वह किसानों की भावनाओं से मुख्यमंत्री जी को अवगत करवाएंगे और संभव हुआ तो उनका कार्यक्रम भी तिगांव में बनवाएंगे।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आदेश पर ग्रेटर फरीदाबाद के किसानों के खातों में करीब 1700 करोड रुपए एचएसवीपी द्वारा डाले दिए गए हैं। ग्रेटर फरीदाबाद के 19 गांवों की जमीन मास्टर रोड व डिवाइडिंग रोड के लिए अधिग्रहण की गई थी। जिसका अवार्ड 27 अगस्त 2010 को 16 लाख रूपये प्रति एकड़ सुनाया था। लेकिन किसानों के विरोध के बाद इसे बढ़ाकर 42 लाख रूपये किया। किसानों ने इसके लिए लंबी अदालती लड़ाई भी लड़ी। 14 जुलाई 2021 को सभी 19 गांवों का अदालत से अलग-अलग रेट फाइनल हो गया। लेकिन उन्हें मुआवजा नहीं मिल सका था। विधायक राजेश नागर ने तिगांव की प्रगति रैली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सामने यह समस्या रखी थी। जिस पर मुख्यमंत्री ने 15 अगस्त तक पैसा आने की बात कही थी लेकिन किसानों के खातों में 15 जून को ही पैसा आना शुरू हो गया है।

इस अवसर पर पं लच्छीराम शर्मा, धर्मपाल, जितेंद्र त्यागी, लीलू चंदीला, सुभाष, प्रकाश नरवत, किरणपाल, चंद्र नरवत, उमेद, हरिचंद, चतर सिंह, बाबू बुढैना, महेंद्र नरवत, वेदपाल, धीरज, परमानंद, भूपसिंह, रोहताश यादव आदि मुख्य रूप से शामिल थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.