भाजपा सरकार की मजदूर-कर्मचारी व आम जनता विरोधी नीतियों के खिलाफ सभी ट्रेड यूनियन व कर्मचारी संघों ने की बुलंद आवाज

650 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 2 दिसंबर। गुरुग्राम के कमला नेहरू पार्क में सभी ट्रेड यूनियन व कर्मचारी संघों ने भाजपा सरकार की मजदूर–कर्मचारी व आम जनता विरोधी नीतियों के खिलाफ एकजुट हो कर बुलंद आवाज उठाई! सभी कर्मचारी व मजदूर संगठनों के कार्यकर्ताओं की एक विशाल बैठक का आयोजन किया गया! देश में बढ़ रही महंगाई व आर्थिक मंदी की समस्या को ले कर केंद्रीय सरकार के खिलाफ सभी मजदूर व कर्मचारी संगठनों के कार्यकर्ताओं में जबरदस्त आक्रोश था! बैठक में सरकार के द्वारा श्रम कानूनों में बदलाव किये जाने की नीति की जबरदस्त निंदा की गई व विरोध किया गया! आर्थिक मंदी व अन्य कारणों के चलते नौकरी से निकाले व सस्पैंड किये गये सभी कर्मचारियों व मजदूरों को बहाल करने की मांग की गई! बैठक में सभी मजदूरों व कर्मचारियों को ई.एस.आई.,पी.एफ.व पैंशन की सुविधा दिए जाने के लिए भी जबरदस्त आवाज उठाई गई! मनरेगा में साल भर काम व 600 रूपये दिहाड़ी व न्यूनतम वेतन 18000 रूपये मासिक तथा सभी को 5000 रूपये मासिक पैंशन दिए जाने की भी मांग उठी!

बैठक में अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति की तरफ से उषा सरोहा ने सभा को संबोधित करते हुए बुलंद आवाज में कहा कि वर्तमान में भाजपा सरकार मजदूर व कर्मचारी विरोधी हो चुकी है! भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण आम आदमी की रोजमर्रा की आवश्यकता की सभी वस्तुओं के दामों में जबरदस्त महंगाई बढ़ी हुई है! उषा सरोहा ने आगे कहा कि देश इस वक्त जबरदस्त आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है! मजदूर व कर्मचारी वर्ग का इन हालातों में जीना दूभर हो चुका है! गरीब व वंचित वर्ग तथा किसान वर्ग के लोगों में गरीबी व बदहाली की वजह से आत्महत्याओं का दौर बढ़ गया है! बुलंद आवाज में उषा सरोहा ने सभी मजदूर व कर्मचारी भाईयों को आह्वान किया कि अपने हितों की रक्षा करने के लिए भाजपा सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ एकजुट हो जाओ! उन्होंने कहा कि इस अंधी बहरी सरकार को चेतावनी देने के लिए कर्मचारी व मजदूर भाई हर प्रकार के संघर्ष के लिए तैयार रहे और अगर अपने हितों की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ते हुए जेल भी जाना पड़े तो उस के लिए भी तैयार रहें! सभा में इंटक, सीटू, हरियाणा कर्मचारी महासंघ, सर्वकर्मचारी संघ हरियाणा,अखिल भारतीय महिला जनवादी समिति, भवन निर्माण कामगार यूनियन व अन्य कई कर्मचारी व मजदूर संगठनों के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने सैंकड़ों की संख्या में भाग लिया!

कर्मचारी नेता कुलदीप जांघू ने सभा को संबोधित करते हुए सभी मजदूर व कर्मचारी भाईयों को सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ एक बड़ी लड़ाई लडऩे के लिए एकजुट होने की अपील की! उन्होंने कहा कि ट्रेड यूनियन आंदोलनों का दमन बंद किया जाये व कर्मचारियों पर बनाये गये झूठे मुकदमें वापिस किये जायें! जूझारू व कर्मठ कर्मचारी नेता सुखबीर सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सामाजिक सुरक्षा कोड के नाम पर निर्माण मजदूरों के कल्याण बोर्ड पर हमला बंद किया जाये व सभी निर्माण मजदूरों का पंजीकरण करके सभी प्रकार की सुविधाएं दी जायें! सभी मजदूर व कर्मचारी भाईयों को राशन, स्वास्थ्य सुविधा, शिक्षा और आवास सुविधा सस्ती दरों पर उपलब्ध करवाई जाये! उन्होंने मांग उठाई कि आउटसोर्स और ठेका प्रथा बंद की जाये तथा कच्चे कर्मचारियों व मजदूरों को पक्का किया जाये! सभा में अन्य कई कर्मचारी नेताओं ने बोलते हुए भवन निर्माण कामगार मजदूरों की समस्याओं के समाधान और कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की मांगों को लेकर आंदोलन को तेज करने की बुलंद आवाज उठाई! भवन निर्माण से जुड़े मजदूरों के पंजीकरण व पंजीकृत मजदूरों को मिलने वाली कल्याणकारी योजनाओं के आवेदन को लेकर भारी परेशानी सामने आ रही है! अधिकारी वर्ग मजदूरों से पंजीकरण फार्म पर पटवारी,सचिव और जेई आदि से कार्य करने का 90 दिनों का प्रमाण पत्र देने की मांग करते हैं! जिसको लेकर मजदूर वर्ग को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है! अधिकारी मजदूरों को प्रमाण पत्र जारी करने में आना कानी करते हैं! इससे पहले केवल मजदूर यूनियन की तरफ यह प्रमाण पत्र जारी किये जाते थे! सरकार से मांग की गई कि मजदूरों को प्रमाण पत्र जारी करने के लिए दोबारा से मजदूर यूनियन को ही अधिकृत किया जाये व मजदूर कल्याण बोर्ड में मजदूर यूनियनों के लोगों को लिया जाये ताकि निर्माण श्रमिकों को आ रही समस्याओं का समाधान आसानी से किया जा सके! सभा में भवन निर्माण कामगार यूनियन के जिला प्रधान धर्मवीर सैनी व जिला महासचिव राजेंद्र सरोहा भी उपस्थित थे!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *