फरीदाबाद पुलिस ने 28 पटाखे चलाने वालों, 16 पटाखे बेचने वालों के खिलाफ की कानूनी कार्रवाई

78 Views
  • पटाखे चलाने और बेचने वाले आरोपियों के खिलाफ फरीदाबाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर की कानूनी कार्रवाई
  • पुलिस ने 40 मुकदमे दर्ज कर 44 लोगों को किया गिरफ्तार।

फरीदाबाद : माननीय सुप्रीम कोर्ट, एनजीटी के निर्देश एवं हरियाणा स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के आदेश पर जिला प्रशासन के द्वारा लगाई गई पाबंदी पर पुलिस कमिश्नर विकास अरोड़ा ने सभी उच्च अधिकारियों के साथ-साथ थाना प्रबंधक,चौकी प्रभारी एवं क्राइम ब्रांच को पटाखे चलाने और बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। पुलिस कमिश्नर के आदेशों पर कार्रवाई करते हुए फरीदाबाद की सभी थानों में पटाखे बेचने व चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 40 मुकदमे दर्ज कर 44 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार सभी आरोपी फरीदाबाद के अलग-अलग थाना एरिया के रहने वाले हैं।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पटाखों को लेकर फरीदाबाद पुलिस ने सभी इलाकों में पीसीआर, राइडर और एसएचओ मोबाइल की सहायता से पटाखों के पूर्ण प्रतिबंध का एलाउंसमेंट कर सभी जगहों पर लोगों को सूचना दी गई थी। इसके बावजूद कुछ गैर जिम्मेवार लोग पटाखे बेचते/चलाते पाए गए है। पटाखे बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए फरीदाबाद पुलिस ने थाना सेक्टर 17 में चार, थाना पल्ला, सेक्टर 31एवं छायंसा मैं 2-2 मुकदमे दर्ज किए हैं। थाना सेक्टर 8, कोतवाली तिगांव आदर्श नगर सराय ख्वाजा ओल्ड फरीदाबाद में 1-1 मुकदमा दर्ज किया गया है और 16 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही फरीदाबाद के सभी थानों में 24 मुकदमे पटाखे चलाने वालो के खिलाफ कार्रवाई करते हुए थाना सेंट्रल में 6, खेरी पुल-4, पल्ला और सराय ख्वाजा 3-3, सिटी बल्लभगढ़ और सेक्टर 31 में 2-2 तथा थाना बीपीटीपी, मुजेसर , सूरजकुंड और थाना ओल्ड फरीदाबाद में 1-1 पटाखे चलाने वाले आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज है। दर्ज किए गए मुकदमों में 28 लोगों की गिरफ्तारी की गई है।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपियों को क्राइम गस्त एवं गुप्त सूत्रों से प्राप्त सूचना के आधार पर काबू किया गया है पटाखे बेचने वाले आरोपियों से पटाखों से भरे हुए कार्टून और प्लास्टिक बैग बरामद किए गए हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.