फरीदाबाद पुलिस ने सर्वोदय हॉस्पिटल तथा थाना सदर बल्लबगढ के साथ मिलकर गांव फतेहपुर बिल्लोच के सरकारी स्कूल में छात्रों को नशा मुक्ति प्रति किया जागरूक

58 Views
  • स्कूल के छात्रों को नशे के चंगुल से बचाने के लिए नाटक प्रोग्राम आयोजन कर किया प्रेरित

फरीदाबाद : आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा द्वारा चलाए गए नशा मुक्ति अभियान के तहत सर्वोदय हॉस्पिटल तथा समाज सेवी योगेश के साथ मिलकर गांव फतेहपुर बिल्लोच के सरकारी स्कूल में छात्रों को नशा मुक्ति रहने के लिए प्रेरित किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि ‘नशा मुक्त फरीदाबाद’ अभियान के तहत नशे से होने वाली हानि के प्रति जागरूक प्रोग्राम कल फतेहपुर बिल्लोच के सरकारी स्कूल में नाटक प्रोग्राम 14 जुलाई को साय 4 बजे समाज सर्वोदय हॉस्पिटल तथा समाज सेवी योगेश के द्वार संचालित किया गया जिसमें भाग लेने के लिए पुलिस विभाग की तरफ से इंस्पेक्टर सविता इंचार्ज सीनियर सिटिजन सैल व थाना सदर बल्लभगढ़ प्रबंधक नवीन कुमार व उनकी टीम साथ ही सर्वोदय हॉस्पिटल के डॉक्टर इमाम अपनी टीम के साथ व स्कूल के बच्चे व उनका स्टाफ उपस्थित रहे। नशा मुक्त एवं कैंसर रहित बनाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं।

सर्वोदय हॉस्पिटल के डॉक्टर द्वारा नशा एवं कैंसर के संबोधन द्वारा नौजवान युवकों को नशे के दुष्परिणामों से अवगत एवं शपथ दिलाकर उकत अभियान को सफल बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यदि मनुष्य चाहे तो वह नशे से छुटकारा पा सकता है। नशे से छुटकारा पाने के लिए योग तथा व्यायाम सबसे महत्वपूर्ण साधन है जिससे मनुष्य का ध्यान नशे से हटकर अपनी सेहत पर केंद्रित हो जाता है और वह कुछ महीनों की मेहनत के पश्चात ही नशे से मुक्ति पा सकता है। नशा मुक्ति के पश्चात व्यक्ति के शरीर में बहुत परिवर्तन होते हैं तथा वह पहले से अच्छा महसूस करता है तथा उसके आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है। इसलिए सभी नागरिक नशे से बचने के लिए शारीरिक व्यायाम करें और नशा मुक्ति पाकर अपने और अपने परिवार के साथ अच्छा जीवन यापन करें।

पुलिस टीम ने बताया कि वह किसी भी प्रकार के अपराध की सूचना 112 पर दे सकते हैं। इसके अलावा नशामुक्ति हेल्पलाइन 9050891508, महिला हेल्पलाइन 1091, साइबर अपराधों से संबंधित शिकायतें 1930 और बच्चों से संबंधित किसी भी अपराध के लिए वह 1098 पर संपर्क कर सकते हैं। छात्राओं के मोबाइल में दुर्गा शक्ति एप इंस्टॉल करवाई गई ताकि इमरजेंसी के समय इसके उपयोग से पुलिस को सूचित करके सहायता ली जा सके। लोगों के द्वारा द्वारा पुलिस टीम द्वारा चलाए गए जागरूकता अभियान के लिए उन्होंने पुलिस टीम का तहे दिल से धन्यवाद किया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.