निजी कंपनी के जरिए संचालित होने वाली ‘तेजस एक्सप्रेस’ पहली ट्रेन

195 Views

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश की पहली प्राइवेट ट्रेन ‘तेजस एक्सप्रेस’ को लखनऊ में पिछले दिनों हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘यह देश की पहली कॉरपोरेट ट्रेन है। मैं इसमें यात्रा करने वाले पहले यात्रियों को बधाई देता हूं, और उम्मीद करता हूं कि अन्य शहरों को जोडऩे के लिए भी इसी तरह की पहल की जाएगी। निजी कंपनी के जरिए संचालित होने वाली तेजस एक्सप्रेस पहली ट्रेन है।

प्राइवेट ट्रेन ‘तेजस एक्सप्रेस’ से यात्रा करने वाले यात्रियों को यदि ट्रेन नियत समय पर नहीं पहुंचाती है तो इसके बदले यात्रियों को मुआवजा दिया जाएगा। दिल्ली-लखनऊ के बीच चलने वाली इस प्राइवेट ट्रेन ‘तेजस एक्सप्रेस’ को लेकर आईआरसीटीसी पहले ही घोषणा कर चुकी है। रेलवे की सहायक कंपनी के अनुसार, अगर यह ट्रेन अपने नियत समय से लेट होती है, तो यात्रियों को मुआवजा दिया जाएगा। इस नियम के अनुसार अगर ट्रेन एक घंटे से अधिक लेट होती है, तो यात्री को 100 रुपये और दो घंटे से ज्यादा लेट होती है, तो 250 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। इतना ही नहीं ट्रेन के यात्रियों को 25 लाख रुपये का बीमा भी दिया जाएगा। इसके अलावा अगर यात्रा के दौरान लूटपाट या सामान चोरी होता है, तो एक लाख रुपये तक मुआवजे के तौर पर दिए जाएंगे।

ट्रेन की कमर्शियल रनिंग 5 अक्टूबर से शुरू हुई। तेजस एक्सप्रेस लखनऊ से सुबह 6:10 पर चलेगी और दोपहर 12:25 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी। नई दिल्ली से 15:35 बजे चलेगी और रात 22:05 बजे लखनऊ पहुंचेगी। तेजस एक्सप्रेस मंगलवार को छोडक़र हफ्ते के छह दिन नई दिल्ली और लखनऊ के बीच फेरे लगाएगी। इस ट्रेन में लखनऊ से नई दिल्ली का न्यूनतम किराया चेयर कार का 1125 रुपये और एक्जीक्युटिव चेयर कार का 2310 रुपये है। दिल्ली से लखनऊ की यात्रा के लिए एसी चेयर कार का टिकट 1280 रुपये होगा जबकि एक्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 2450 रुपये खर्च करने होंगे। वहीं, लखनऊ से कानपुर के लिए एसी चेयर कार का टिकट 320 रुपये होगा। दिल्ली से लखनऊ की यात्रा में खाना भी दिया जाएगा इसलिए इसका किराया थोड़ा ज्यादा है। रेलवे बोर्ड अन्य मार्गों पर भी ऐसी ट्रेन चलाने पर विचार कर रहा है। तेजस ट्रेन की निगरानी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन के जिम्मे है।

ट्रेन में विमान की तरह व्यक्तिगत एलसीडी एंटरटेनमेंट-कम-इंफोर्मेशन स्क्रीन, ऑन बोर्ड वाई-फाई सेवा, आरामदायक सीटें, मोबाइल चार्जिंग, व्यक्तिगत रीडिंग लाइट्स, मोड्यूलर बायो-टॉयलेट और सेंसर टेप फिटिंग की सुविधाएं होंगी। लखनऊ-दिल्ली मार्ग पर फिलहाल स्वर्ण शताब्दी समेत 53 ट्रेनें संचालित होती हैं। लखनऊ-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस के बाद जल्द ही अहमदाबाद से मुंबई के लिए चलने वाली तेजस एक्सप्रेस शुरू की जा सकती है! तेजस एक्सप्रेस में कुल 758 यात्री सफर कर सकेंगे। इस ट्रेन में एक एक्जीक्यूटिव वातानुकूलित चेयर कार होंगी, जिसमें 56 सीटें होंगी और 9 वातानुकूलित चेयर कार होंगी, जिनमें प्रत्येक में 78 सीटें होंगी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

5 Replies to “निजी कंपनी के जरिए संचालित होने वाली ‘तेजस एक्सप्रेस’ पहली ट्रेन”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *