निगम की नौटंकी के खिलाफ जनता व आरडब्लूए हुई एकजुट

691 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 30 जनवरी। पिछले कई महीनों से गुरुग्राम की नगर निगम में कुछ अजीबोगरीब नौटंकी चल रही है! कभी पार्षद मेयर के खिलाफ तो कभी मेयर आरडब्लूए सहित पार्षदों के खिलाफ मोर्चा खोल कर समस्याओं से जूझ रही जनता का ध्यान भटकाने की जुगाड़बाजी में लगे हैं! इन सभी पार्षदों ने पिछले पांच सालों में गुरुग्राम को कूड़ा ग्राम बना कर छोड़ दिया! सभी पार्षदों ने अपने अपने वार्डों में कूड़ा कर्कट व गंदगी की समस्या का समाधान तो करवाया नहीं बल्कि जो फंड सरकार से वार्डों में विकास के कार्य करवाने के लिए आया था उस फंड के सारे पैसे पार्षद निगम अधिकारीयों की मिलीभगत से डकार गये! भाजपा के स्थानीय नेताओं ने इन पार्षदों की लूट खसोट में पूरा पूरा सहयोग करते हुए मुख्यमंत्री की आंखों पर पट्टी बांधे रखी व जनता को मूर्ख बनाते हुए राम मंदिर व हिंदू मुस्लिम के नारे लगा कर दूसरी बार भी भाजपा सरकार बनवा कर नगर निगम में दोबारा से लूट खसोट के प्रयास शुरू किये तो अब की बार जनता की आंख खुली!

भाजपा सरकार के दूसरे राज्य काल में गुरुग्राम की जनता को अब जा कर थोड़ा बहुत भाजपा समर्थित पार्षदों व नेताओं की लूट खसोट की पोल का मालूम हुआ तो जनता गुरुग्राम की मूल समस्या कूड़े कर्कट व गंदगी की समस्या के खिलाफ पिछले तीन महीने से लगातार सडक़ों पर उतर कर संघर्ष कर रही है! गुरुग्राम के हरेक वार्ड में कूड़े कर्कट व गंदगी की समस्या हल ना करवा पाने व अपनी पोल खुलने के डर से ही सभी पार्षद पिछले तीन महीनों से जानबूझ कर आपस में व मेयर के साथ झगड़े करने की नौटंकी करते आ रहे हैं! अब इन पार्षदों ने आरडब्लूए के सभी संगठनों को अपनी नौटंकीबाजी का निशाना बनाना शुरू कर दिया है!

इन सभी पार्षदों ने साजिश रचते हुए आरडब्लूए के द्वारा किये जा रहे सभी पार्कों व सामुदायिक केंद्रों के रखरखाव को अब अपने तहत करने के लिए एक बड़ा अभियान छेड़ रखा है! पिछले पांच सालों में गुरुग्राम की सभी आरडब्लूए ने अपने तहत आने वाले पार्कों को विकसित किया है जब कि नगर निगम के तहत आने वाले सभी पार्कों व ग्रीन बेल्ट एरिया की स्थिति इन पार्षदों की लूट खसोट की वजह से बहुत ही खराब है! पार्षदों ने अपने वार्डों में कोई विकास कार्य नहीं करवाये! बहुत से पार्षद तो अपने वार्डों की जनता के बीच आते ही नहीं! इन पार्षदों की लूट खसोट व लापरवाही के चलते अब गुरुग्राम की जनता ही इन पार्षदों व मेयर की नौटंकीबाजी के खिलाफ मोर्चा खोलेगी!

आरडब्लूए सेक्टर 3,5 और 6 के अध्यक्ष दिनेश वशिष्ठ का कहना है कि आगामी तीन फरवरी को गुरुग्राम नगर निगम की बैठक होना प्रस्तावित है! उनका कहना है कि इस बैठक में एक अहम मुद्वे पर मेयर के सामने एक बड़ी चुनौती यह है कि कौन कौन पार्षद जनता की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे? मेयर के सामने यह चुनौती भी है कि क्या मेयर उन पार्षदों के इस्तीफे ले पायेगी जो पार्षद जनता की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे? दिनेश वशिष्ठ ने बताया कि वहीँ निगम पार्षदों का कहना है कि मेयर को ऐसा कौन सा क़ानूनी अधिकार है कि पार्षदों से इस्तीफे ले सके!

ऐसे ही मुद्वों सहित बातों को ले कर विभिन्न आरडब्लूए और मेयर के बीच में तनाव फैलता दिखाई दे रहा है! उन्होंने कहा कि मेयर टीम जनता को बताये कि कौन सा पार्षद अच्छा काम कर रहा है और कौन सा पार्षद अच्छा काम नहीं कर रहा! मेयर टीम को गुरुग्राम की सभी आरडब्लूए संगठनों से इस बारे में बात करनी चाहिये! यहां एक गंभीर सवाल खड़ा होता है कि क्या मेयर टीम को गुरुग्राम की सभी आरडब्लूए से बातचीत कर के उन्हें भरोसे में नहीं लिया जाना चाहिए? मेयर टीम पर यह एक बहुत बड़ा प्रश्नचिन्ह है!

उन्होंने कहा कि मेयर उन पार्षदों की बात मान रही है जो कुछ दिन पहले मेयर को बदल रहे थे! दिनेश वशिष्ठ का कहना है कि मेयर कुछ पार्षदों के दबाव में आ कर गुरुग्राम की सभी आरडब्लूए और सामाजिक संस्थाओं का अपमान कर रही हैं! यह गुरुग्राम की जनता के साथ धोखा है! निगम सदन गुरुग्राम के विकास कार्यों के लिए है ना कि आरडब्लूए और सामाजिक संस्थाओं का अस्तित्व खत्म करने के लिए! रोज रोज की नगर निगम में होने वाली इस नौटंकीबाजी से जनता परेशान हो गई है! पार्षद जनता की सेवा के लिए चुने जाते हैं ना कि पेट पूजा के लिए, ये सब खेल पेट पूजा का मामला है क्यों कि आरडब्लूए इन पार्षदों के गलत कार्य का विरोध करती हैं! यही बात कुछ पार्षदों को खटकती है! गुरुग्राम की सभी आरडब्लूए अब नगर निगम की इस नौटंकीबाजी के खिलाफ एकजुट हो चुकी हैं!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *