डॉक्टर को चाहिए कि वे अपनी जिम्मेदारियों को और भी बेहतर ढंग व पूर्ण निष्ठा ईमानदारी से पूरा करें : एसडीएम अपराजिता

165 Views
  • जिस भी चिकित्सा अधिकारी को जो जिम्मेदारी सौंपी जाए, उसको वह गंभीरता के साथ पूरा करें : एसडीएम

फरीदाबाद (बल्लभगढ), 26 अप्रैल। एसडीएम अपराजिता ने कहा कि उपमंडल में कोविड-19 वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण से ग्रस्त लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े। इसके लिए प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आपस में तालमेल बनाकर कार्य करना होगा। एसडीएम अपराजिता अपने कार्यालय में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि लोगों को कोविड-19 की वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए प्रशासन गंभीरता से कार्य कर रहा है। इसमें जो भी कोई दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जानी सुनिश्चित करें।

एसडीएम अपराजिता ने कहा कि जिस भी चिकित्सा अधिकारी को जो जिम्मेदारी सौंपी जाए, उसको वह गंभीरता के साथ पूरा करें। लोगों को अब जरूरी दवाइयों की सीधी सप्लाई की जाएगी। मेडिकल स्टोर से अधिक दामों पर दवाइयां लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। लोग मेडिकल स्टोर की दुकान से वैक्सीन या अन्य दवाइयां लेकर जाते हैं और जो दवाइयां इस्तेमाल में नहीं आती वह वापस स्टोर में जमा करवाना सुनिश्चित करें ताकि अन्य लोगों के वह दवाई काम आ सके।

बैठक में रिटायर्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एस. सहरावत, ड्रग्स इंस्पेक्टर डॉ. करन सिंह गोदारा व डॉ. पूजा चौधरी उपस्थित रही। एसडीएम अपराजिता ने कहा कि उपमंडल में दवाइयों, वैक्सीन, ऑक्सीजन गैस सहित अन्य कालाबाजारी करने वाले को खिलाफ सख्ती से निपटा जाएगा। कोविड-19 के बचाव की दवाइयों, वैक्सीन व अन्य दवाओ पर जो लोग कालाबाजारी करते हैं। उनके यहां छापेमारी की जाएगी। एसडीएम अपराजिता ने ड्रग्स इंस्पेक्टर को निर्देश देते हुए कहा कि वे और उनकी टीम हर केमिस्ट की दुकान का पूरा रिकॉर्ड चेक करें। कितनी दवाइयां आई है, कितनी बेची गई है और कितनी बाकी बची है। इंडेंट वाइज उसका पूरा विवरण चेक करना सुनिश्चित करें। सप्लायर की डेली बेसिस पर समीक्षा की जाए। किस केमिस्ट के पास कितनी दवाइयां आई है। उनमें से कितनी दवाइयां किस रेट पर बेची गई है। इसकी पूरी समीक्षा करना सुनिश्चित करें।

एसडीएम अपराजिता ने कहा कि सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में कितने मरीज उपचाराधीन है, कितने आईसीयू में है और कितने क्रिटिकल है, इसका भी पूरा रिकॉर्ड रखना सुनिश्चित करें। बैठक को संबोधित करते हुए उन्होने कहा की आज कोरोना की स्थिति को ध्यान में रखते हुए डॉक्टर की भूमिका सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। उन्होंने उपमंडल के सभी डॉक्टरों/अस्पतालों के पदाधिकारियों से कोरोना महामारी से मिलकर निपटने हेतु अपील करते हुए कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए सभी का सहयोग अपेक्षित है। ऐसे में डॉक्टर/अस्पताल आमजन की स्वास्थ्य सुविधाओं के सम्बंध में अपने से जुड़ी प्रशासन की किसी भी समस्या से निपटने के लिये समय रहते जिला प्रशासन को अवगत करते रहें ताकि इस संबंध में सभी समस्याओं का समाधान समय रहते किया जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना के मद्देनजर स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़ा हर व्यक्ति महत्वपूर्ण है और उनकी जिम्मेदारी उससे भी अधिक है, ऐसे मे सरकार के हिदायतों अनुसार समय-समय पर मिलने वाले सभी आवश्यक दिशा-निर्देश की अनुपालना करना सुनिश्चित करते रहे। उन्होंने कहा कि आज कोरोना की स्थिति को ध्यान में रखते हुए इस विषम परिस्थिति में लोगों की जान को जोखिम में जाने से बचा रहे है, ऐसे में डॉक्टर को चाहिए कि वे अपनी जिम्मेदारियों को और भी बेहतर ढंग व पूर्ण निष्ठा ईमानदारी से पूरा करें।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *