जेआरसी और एस जे ए बी ने मजदूरों को जागरूक किया

191 Views

फरीदाबाद ! राजकीय आदर्श कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद में प्राचार्य रवीन्द्र कुमार मनचन्दा की अध्यक्षता में विद्यालय की जेआरसी अर्थात जूनियर रेडक्रॉस और एस जे ए बी ने   में विद्यालय के शेल्टर होम में ठहरे हुए पिछत्तर  प्रवासी मजदूरों को कोविड 19 महामारी के संक्रमण से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखने और स्वस्थ रहने के लिए जागरूक किया। एन एच तीन फरीदाबाद के सरकारी स्कूल में बने शेल्टर होम इंचार्ज और प्राचार्य रवीन्द्र कुमार मनचन्दा ने विद्यालय में ठहर रहे पिछत्तर प्रवासी मजदूरों (मुजफ्फरपुर बिहार जाने वाले) को बताया कि अब हमें सामाजिक दूरी बनाए रख कर, मास्क पहन कर और हाथों को बार बार धो कर या सेनेटाइज कर कोरोना के साथ ही जीने की आदत बनानी होगी।

कोरोना महामारी से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखना, हाथों को साबुन से अच्छी तरह धो कर साफ़ रखना, मास्क का प्रयोग करना आदि सरकार द्वारा जो गाइडलाइन्स दी गई हैं उन के अनुसार अपने आपको, अपने परिवार को, मित्रों को तथा दूसरों को संक्रमण से बचाना होगा। बाहर से आने पर हाथों को साबुन से धोएं, कार्यस्थल पर कोई भी कार्य करते समय अपनी सुरक्षा बनाए रखने में ही सभी का बचाव है, हम सभी अपनी जिम्मेदारी एवं उत्तरदायित्वों का पालन करें तथा हम सभी को अपनी अपनी सुरक्षा का सामूहिक उत्तरदायित्व लेना होगा। फरीदाबाद जूनियर रेडक्रॉस काउन्सलर और विद्यालय के प्रधानाचार्य रवीन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि रेडक्रॉस फरीदाबाद सचिव विकास कुमार, डी टी ओ इशांक कौशिक, काउन्सलर विनोद बैंसला, संजय मिश्रा, सूबे सिंह ने भी सोशल डिस्टेंस के लाभ बताए।

प्राचार्य रवीन्द्र कुमार मनचन्दा ने सभी प्रवासी मजदूरों को बताया कि वे घर से बाहर निकलते ही सार्वजनिक स्थानों पर जाने पर मास्क अवश्य पहनें, मास्क का हमेशा प्रयोग करें और अच्छा होगा घर में तैयार किए हुए मास्क का ही प्रयोग करें क्योंकि उन्हें धोकर बार बार प्रयोग में लाया जा सकता है। सभी प्रवासी मजदूरों को प्रशासन और रेडक्रॉस द्वारा भोजन दिया गया, प्रशासन ने सभी मजदूरों को यात्रा टिकट दिए और सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए बसों में बैठाया गया, ये बसें उन्हें स्टेशन तक ले जाएंगी जहां से सभी मजदूरों को मुजफ्फरपुर बिहार जाने वाली रेल में बैठाया जाएगा। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि विद्यालय में शेल्टर होम में व्यवस्था बनाने में अध्यापकों के अतिरिक्त रामकृपाल और लक्ष्मी की सराहनीय भूमिका रही।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *