जातियों के जाल को तोड़कर ही बहुजन समाज दरिद्रता से आजाद हो सकता है : लक्ष्य

280 Views

लखीमपुर खीरी !  लक्ष्य की लखीमपुर टीम ने ” बहुजन जनजागरण” अभियान के तहत एक दिवसीय कैडर कैम्प का आयोजन   उत्तर प्रदेश के जिला लखीमपुर खीरी के गांव धंवरपुर में किया |  जिसमे गांव के लोगो ने विशेषतौर से महिलाओं व युवाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया |  इस कैडर कैम्प में लक्ष्य कमांडरों ने सामाजिक व धार्मिक कुरीतियों, अन्धविश्वास व महापुरुषों के योगदान की विस्तार से चर्चा की तथा बहुजन एकता पर बल दिया |

जातियों के जाल को तोड़कर ही बहुजन समाज दरिद्रता से आजाद हो  सकता है | जातियों के जाल में एक विशाल बहुजन समाज हजारो वर्षो से जकड़ा हुआ है और गुलामी व दरिद्रता वाला  जीवन जी रहा  है |  यह एक व्यवस्था है जो दूषित माशिकता वाले लोगो की सोची समझी चाल है ऐसी व्यवस्था में मजबूत चीज को भी आसानी से अपनी मुट्ठी में काबू किया जा सकता है,   इसका जीता-जागता उदाहरण बहुजन समाज है जो कहने को तो बहुजन है अर्थात विशाल है लेकिन जातियों के जंजाल में फंसकर वह छोटे छोटे टुकड़ो में बट गया है जिसका परिणाम है कि वह  एक  लाचार व कमजोर समाज बनकर जो हजारो वर्षो से  दबंगो की गुलामी करने को विवश है और  वे लोग अपने ऊपर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ अपना मुँह तक नहीं खोल पाते हैं | यह बात लक्ष्य की महिला कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही |

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि बहुजन समाज की इस दुर्दशा के लिए  यह जातियों का जाल ही मुख्य रूप से जिम्मेदार है | उन्होंने बहुजन समाज के लोगो से कहा कि अगर आप लोग गुलामी से निकलकर एक अच्छा जीवन चाहते है तो आप लोगो को अपनी जातियों के इस जाल को तोड़ना होगा अर्थात इस बीमारी से छुटकारा पाना ही होगा और बाबा साहब  डॉ भीमराव अम्बेडकर के बताये मार्ग पर चलना होगा तभी जाकर हमारा उद्धार हो सकता है | उन्होंने बहुजन समाज  के लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि आओ मिलकर इस  जातियों  के  जाल  को तोड़े  और आजादी का जीवन जियें |

इस कैडर कैम्प लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, राज कुमारी कौशल, संघमित्रा गौतम, विजय लक्ष्मी गौतम, बबिता सेन, मुन्नी बौद्ध, निर्मला बौद्ध, नीलम चौधरी, मीना सुमन, राजेश्वरी देवी प्रधान, सरिता राज, सरिता देवी जिला पंचायत सदस्य, डॉ आशीष आर्या, प्रसेनजीत व् जगपाल बौद्ध ने हिस्सा लिया |

कैडर कैम्प के आयोजक केशव राम प्रधान, गौरव भार्गव, हरिंदर चौधरी व् अखिलेश भार्गव ने सभी लोगो का विशेषतौर से लक्ष्य की महिला कमांडरों का धन्यवाद किया तथा उनके द्वारा किये जा रहे सामाजिक जागरूकता अभियान की जोरदार प्रशंसा की |

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Replies to “जातियों के जाल को तोड़कर ही बहुजन समाज दरिद्रता से आजाद हो सकता है : लक्ष्य”

  1. Pingback: valid dumps shop

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *