जहां हमारा शरीर स्वस्थ रहता है वहीं मानसिक स्तर भी ऊँचा होता है : नरेंद्र गुप्ता

148 Views

फरीदाबाद, 29 फरवरी। सेक्टर-12 के खेल परिसर में जिला कुमार प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता के मुख्यातिथि विधायक नरेंद्र गुप्ता ने पहलवानों का हाथ मिलाकर प्रतियोगिता का विधिवत शुभारंभ किया गया। प्रतियोगिता के दौरान खिलाडिय़ों ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया।  इस मौके पर मुख्यातिथि  विधायक नरेंद्र गुप्ता ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि खेलों से जहां हमारा शरीर स्वस्थ रहता है वहीं मानसिक स्तर भी ऊँचा होता है। इसलिए प्रत्येक मनुष्य को जीवन में कोई न कोई खेल अवश्य खेलना चाहिए। खेलों से भाईचारा भी बढ़ता है तथा खिलाडिय़ों को खेल को खेल की ही भावना से खेलना चाहिए। विधायक ने खेल आयोजकों व खिलाडिय़ों को पूर्ण आश्वासन दिया कि भाजपा की सरकार में उन्हें किसी भी तरह की परेशानी नहीं आने दी जाएगी और सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए बेहतरीन प्रयास कर रही है जिसकी बदौलत आज हर खेल वर्ग में हरियाणा राज्य के खिलाड़ी प्रदेश व देश का नाम अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी रोशन कर रहे हैं। कोच विचित्र दहिया ने बताया कि जिला स्तर के विजेता खिलाडिय़ों को राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं के लिए भेजा जाएगा। इस मौके पर विजेताओं को पुरस्कार भी प्रदान किए गए।

कार्यक्रम में जिला खेल अधिकारी मैरी मैसी, भारत केसरी नेत्रपाल पहलवान तथा अर्जुन अवार्डी महिला पहलवान नेहा राठी ने कहा कि खेल हमारे सर्वांगीण विकास के लिए बहुत ही बेहतरीन टॉनिक है। बच्चों के स्वास्थ्य के लिए खेल बहुत ही आवश्यक हैं। बच्चा जब बहुत छोटा होता है, तब वह चारपाई पर लेटा हुआ अपने हाथों और पैरों को चलाता रहता है, जिससे उसकी वर्जिश होती है और उसका दूध पच जाता है। खेल-खेल में वह अपने-आपको तंदुरूस्त रखता है, इसी तरह मानव को हर उम्र में खेलों के द्वारा अपने शरीर को तंदुरुस्त रखने का प्रयास करना चाहिए।  वहीं टोनी पहलवान, भाजपा मंडल अध्यक्ष कुलदीप सिंह साहनी तथा पार्षद सुभाष आहुजा ने कहा कि खेल हमारे जीवन में शारीरिक, मानसिक, मनोवैज्ञानिक और बौद्धिक स्वास्थ्य के साथ गहराई से जुड़ा हुआ है। खेल हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं। यदि हम प्रतिदिन खेल खेलते हैं तो वह हमारे मानसिक कौशल को विकसित करता है। वह हमारे मनोवैज्ञानिक कौशल में भी सुधार लाता है। खेल से हमें प्रेरणा, साहस, अनुशासन और एकाग्रता मिलती है। खेल एक शारीरिक क्रिया है जो विशेष तरीके और शैली से की जाती है और सभी के उसी के अनुसार खेलों के नाम भी होते हैं। कार्यक्रम में सर्वजीत सिंह चौहान,  संदीप मक्कड़, कोच पवन सैनी, जय कत्याल, लक्ष्मण पहलवान तथा सरपंच सुंदर पहलवान ने विशेष रूप से भाग लिया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *