जल शक्ति अभियान टू में जमीनी स्तर पर महिलाओं की भागीदारी एक गुणक रूप में कार्य करेगी : ज्वाइंट सेक्रेटरी भारत सरकार श्रीनिवास दण्डा

85 Views
  • जल शक्ति अभियान के विकास में लोगों की सहभागिता होना अनिवार्य

फरीदाबाद, 04 जुलाई। जल शक्ति अभियान टू के नोडल अधिकारी भारत सरकार के ज्वाइंट सेक्रेटरी श्रीनिवास दण्डा सोमवार को सूरजकुंड के राज हंस होटल में जिला फरीदाबाद में जल शक्ति अभियान टू की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यह केंद्र सरकार का अभियान है, जिसके माध्यम से घटते भूजल स्तर को रोकते हुए उसे बढ़ाना है। उन्होंने जिला में जल शक्ति अभियान के तहत की जा रही विभिन्न गतिविधियों की सराहना की और कहा की जमीनी स्तर पर महिलाओं की भागीदारी एक गुणक रूप में कार्य करेगी। उन्होंने विभागीय स्तर पर की जा रही गतिविधियों की सराहना करते हुए कहा कि जल संरक्षण व संवर्धन के लिए आम जन को जागरूक करने की आवश्यकता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अधिकारी बेहतर क्रियान्वयन करना सुनिश्चित करें। जल शक्ति अभियान के तहत जिस विभाग को जो जिम्मेदारी मिली है, उस जिम्मेदारी का बेहतर क्रियान्वयन धरातल पर सुनिश्चित हो। अधिकारी अपने विभागों से संबंधित टारगेट को निर्धारित समय पर पूरा करें।

बैठक में सीईओ जिला परिषद सत्येंद्र दुहन ने कहा कि जन भागीदारी को इस अभियान से जुड़ने के लिए सभी विभागों सहित प्रशासन आपसी तालमेल करके जल शक्ति अभियान टू के बेहतर क्रियान्वयन के लिए प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के इस अभियान में हम सभी की महत्वपूर्ण कड़ी है, इसके लिए हमें घटते भूजल स्तर को बढाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। उन्होंने अधिकारियों को जल संरक्षण संबंधी महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। वहीं सीईओ जिला परिषद सत्येंद्र दुहन ने जल संरक्षण को लेकर जानकारी देते हुए बताया कि जिला में जिला संरक्षण अभियान का गठन किया गया है। इसके लिए नोडल अधिकारी लगाया गया है। उन्होंने अब तक जल संरक्षण, संवर्धन व भूजल स्तर को बढ़ाने को लेकर विभिन्न विभागों द्वारा किए जा रहे प्रयासों की विस्तृत जानकारी दी। साथ ही उन्होंने जिला की भौगोलिक स्थिति के अनुसार जल शक्ति अभियान के अंतर्गत किए गए कार्यों का विवरण, चेक डैम निर्माण, तालाब, टैंक निर्माण, वाटर हार्वेस्टिंग, नहर निर्माण, पारंपरिक जल स्रोतों का संवर्द्धन कार्य वृक्षारोपण कार्य, जल स्रोतों का पुनरुद्धार आदि सहित आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 75वें अमृत सरोवरों के निर्माण को लेकर विस्तार से जानकारी दी।

बैठक में भारत सरकार के जल शक्ति अभियान टू की तकनीकी अधिकारी श्रीमती पद्मावती, जिला वन अधिकारी राजकुमार, सिंचाई विभाग के अधीक्षक अभियंता राजीव कुमार बत्रा, कार्यकारी अभियंता अश्विनी फोगाट, जिला उद्यान अधिकारी डॉ रमेश कुमार, पंचायती राज के कार्यकारी अभियंता गजेन्द्र, एमसीएफ, महिला बाल विकास विभाग, ग्रामीण विकास अभिकरण, मत्स्य पालन, जिला सूचना जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों सहित बैठक से संबंधित संबंधित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.