जब थाना बना विवाह का आयोजन स्थल !

181 Views

लखनऊ, 22 अप्रैल ! कोविड-19 की वजह से देशभर में चल रहे लॉकडाउन की स्मृतियां अनिल और ज्योति के मन में हमेशा रहेंगी। एक तो महामारी से उत्पन्न जबरदस्त संकट के वक्त उनका विवाह हुआ और दूसरा उनके विवाह का आयोजन स्थल पुलिस थाना बना। अनिल चंदौली जिले के महूजी गांव में रहते हैं जबकि ज्योति गाजीपुर जिले की निवासी है। उनका विवाह 20 अप्रैल को चंदौली के धीना थाने के परिसर में स्थित शिव मंदिर में पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में संपन्न हुआ।

धीना के थाना प्रभारी ने बताया कि वर और वधू की तरफ से पांच-पांच लोग विवाह के दौरान मौजूद थे। प्रभारी ने पुराने दिनों को याद करते हुए बताया कि अनिल ने फरवरी में एक नाव दुर्घटना के समय कई लोगों की जान बचाने में पुलिस की मदद की थी। उस समय पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने अनिल की काफी सराहना की थी। अनिल का विवाह 20 अप्रैल के लिए पहले से तय था। कुमार बताते हैं कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते अनिल चिंतित हुआ तो उसने हमसे मिलकर समाधान के बारे में पूछा।

प्रभारी ने बताया कि अनिल ने थाना परिसर में स्थित शिव मंदिर में विवाह की संभावना के बारे में पूछा और यह भी वादा किया कि वर-वधू की तरफ से पांच-पांच लोग ही विवाह में शामिल होंगे तो हमने इसकी अनुमति दे दी। वैदिक मंत्रोच्चार के बीच सामाजिक दूरी का पालन करते हुए विवाह संपन्न हुआ और इसमें अपर पुलिस अधीक्षक, क्षेत्राधिकारी, थाना प्रभारी सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी शामिल हुए।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Reply to “जब थाना बना विवाह का आयोजन स्थल !”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *