ग्रीष्म अवकाश में बालिकाओं का श्रमिकों को नमन

128 Views

फरीदाबाद : कोविड के मामलों में वृद्धि होने से विद्यालयों में ग्रीष्म अवकाश घोषित किया गया है। ऐसे में विद्यार्थी अपने सामान्य ज्ञान को विकसित कर रहे है। राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन एच तीन फरीदाबाद की बालिकाएं जूनियर रेड क्रॉस, गाइडस, सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड और इको एन स्पोट्र्स क्लब के माध्यम से प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा के मार्गनिर्देशन में अधिक से अधिक ज्ञान प्राप्त करने का प्रयास कर रही हैं। विद्यालय के प्रधानाचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि ग्रीष्म अवकाश के समय को बच्चे विभिन्न महत्वपूर्ण दिवस के इतिहास आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कर कलाकृति, पेंटिंग और स्लोगन के माध्यम से और विशेष रूप से अपने प्राध्यापकों के कुशल मार्गनिर्देशन में अपना सामान्य ज्ञान में वृद्धि कर रहे हैं।

प्रधानाचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि एक मई के दिन को विश्व के अधिकांश देशों ने मेहनतकश श्रमिकों के नाम पर समर्पित किया हुआ है। इसे मजदूर दिवस अर्थात अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस के नाम से जाना जाता है। भारत में श्रमिक दिवस पहली बार एक मई 1923 को मनाया गया था, विश्व के अधिकतर देशों में अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस को राष्ट्रीय अवकाश रखकर उस दिन को मजदूरों के नाम समर्पित किया जाता है। विश्व के कुछ देशों में इसे अलग-अलग दिवसों में भी मनाया जाता है। कोई भी ऐसा व्यक्ति जो अपनी श्रम शक्ति को बेचकर रोजगार प्राप्त करके अपना जीवन यापन करता है, मजदूर कहलाता है। हमारे देश में औद्योगिक विवाद अधिनियम धारा दो एस में मजदूर को ऐसे परिभाषित किया गया है कि मजदूर प्रशिक्षु सहित कोई भी ऐसा व्यक्ति है जो मजदूरी या वेतन के बदले, किसी उद्योग में शारीरिक, अकुशल, कुशल, तकनीकी, कार्यकारी, क्लर्क अथवा सुपरवाइजऱ का कार्य करता हो, चाहे काम की शर्तें अन्तर्निहित हों वह मजदूर है।

एन एच तीन फरीदाबाद की जूनियर रेड क्रॉस तथा सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड की छात्राओं ने सुंदर ई पोस्टर बना कर श्रमिकों के देश को उन्नत बनाने के योगदान को नमन किया। विद्यालय की प्राध्यापिका जसनीत कौर का विशेष योगदान रहा और प्रधानाचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा, बालिकाओं और अध्यापकों ने श्रमिकों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए नमन किया तथा कहा कि हम अपने श्रमिकों के उपकार का ऋण कभी नहीं चुका सकते। प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा और गणित प्राध्यापिका जसनीत कौर ने छात्रा नेहा, आरती, श्वेता, भूमिका और निशा का अंतरराष्ट्रीय श्रम दिवस पर वर्चुअल कार्यक्रम में सशक्त भागीदारिता के लिए साधुवाद दिया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *