गुरूग्राम की सडक़ों पर जल रहा कूड़ा, बढ़ा रहा प्रदूषण

97 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 5 नवंबर। गुरुग्राम जिला पूरे प्रदेश भर में राजस्व के मामले में नंबर वन है परंतु विकास के नाम पर यहां पर पिछले पांच साल में कोई काम नहीं हुआ! पिछले पांच साल में हरियाणा सरकार कूड़े कर्कट को उठाने की व्यवस्था का सही ढंग से प्रबंधन नहीं कर पाई जिस कारण कूड़ा कर्कट गुरुग्राम की सडक़ों पर चारों तरफ बिखरा रहता है और इस वजह से गुरुग्राम शहर पूरे विश्व में गंदगी के नाम पर बदनाम हो चुका है! इस शहर में कूड़े कर्कट के साथ साथ प्रदूषण,जलभराव और यातायात जाम की बड़ी भारी समस्या है! इससे गुरुग्राम की छवि खऱाब हो रही है!

गुरुग्राम में सबसे बड़ी समस्या प्रदूषण की है! गुरुग्राम को विश्व का सबसे प्रदूषित शहर घोषित किया जा चुका है! यहां पर हल्की बारिश होने पर भी सडक़ों पर जलभराव हो जाता है! तेज बारिश होने पर तो शहर के हर इलाके व सडक़ों पर बने अंडरपास पानी में डूब जाते हैं! सफाई व्यवस्था भी पूरी तरह से फेल है! शहर में पेड़-पौधों की काफी कमी है! पार्कों को सही ढंग से विकसित नहीं किया गया! पार्किंग की बड़ी समस्या है! वायु प्रदूषण इस वक्त गुरुग्राम व आसपास के शहरों व अन्य इलाकों में इतना ज्यादा हो गया है कि लोगों को साँस तक लेने में तकलीफ महसूस हो रही है! वायु प्रदूषण को बढ़ाने में पराली के साथ-साथ गुरुग्राम व आस पास के शहरों में जलाये जा रहे कूड़े कर्कट के ढ़ेरों से निकलता हुआ खतरनाक धुंआ पूरा काम कर रहा है! हमारे ‘‘जनता की आवाज’’ न्यूज पोर्टल पर गुरुग्राम के सेक्टर पांच में जलाये जा रहे कूड़े कर्कट के ढेर की खबर पहले लगाई जा चुकी है और अब कई जगहों से कूड़े कर्कट को जलाये जाने की खबरें आ रही हैं!

इस बारे में सिटीजन फॉर क्लीन एयर की संयोजक रुचिका सेठी टक्कर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि गुरुग्राम की हवा में प्रदूषण की एक वजह जगह-जगह पर कूड़ा जलाया जाना भी है और इसको लेकर प्रशासन सख्त नहीं है! जिन खाली प्लाटों में कूड़ा जलाये जाने पर फायर ब्रिगेड तक बुलाई गई, वहीं पर कूड़ा दोबारा फिर से जला! हवा में प्रदूषण को रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन सख्ती नहीं कर रहा! आगे रुचिका सेठी ने कहा कि कूड़ा जलाये जाने के खिलाफ सभी आरडब्लूए संगठन व पर्यावरण संरक्षण से जुड़े लोग 9 नवंबर को लेजर वैली में प्रदर्शन करेंगे! रुचिका सेठी ने कहा कि कूड़े में जो प्लास्टिक और अन्य चीजें जलती हैं, उनका असर सीधे हमारे खून तक पहुंचता है! यह हमारे फेफड़ों व शरीर के लिए गंभीर घातक है! गुरुग्राम के प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए रुचिका सेठी ने कहा कि प्रशासन की मिलीभगत से ही कूड़ा जलाया जा रहा है क्यों कि कूड़े को उठाने की व्यवस्था का प्रबंधन तो ठीक ढंग से प्रशासन से हो नहीं पाया और अब प्रशासन अपनी लापरवाहियों को छिपाने के लिए कूड़े को जलवा रहा है!

‘‘जनता की आवाज’’ न्यूज पोर्टल के सूत्रों के अनुसार इस वक्त हरियाणा के कई शहरों में प्रशासन खुद ही कूड़े कर्कट में आग लगवा रहा है! चरखी दादरी से खबर है कि दादरी शहर में जगह-जगह पर कूड़े के ढेर में आग लगाई जा रही है! दादरी शहर में नगर परिषद कार्यालय के पीछे कई महीनों से पड़े हुए कूड़े कर्कट के ढेर में परिषद के कर्मचारियों ने ही आग लगा दी! दादरी में नगर परिषद, पुरानी सब्जी मंडी, पुराना शहर व रेलवे रोड के पास रोजाना कूड़े में आग लगा दी जाती है! इसी प्रकार भिवानी से खबर है कि भिवानी में दादरी रोड पर बने हुए ठोस कूड़ा प्रबंधन स्थान में जलते हुए कचरे ने लोगों के लिए संकट पैदा कर दिया है! हरियाणा के सफीदों कस्बे में खुद सरकारी अफसर पर्यावरण को बिगाडऩे में लगे हुए हैं! सफीदों में नगरपालिका ने जींद रोड पर बाईपास के दोनों ओर गंदगी युक्त कचरे के ढेर लगाए हुए हैं! इनमें सरकारी अफसरों के द्वारा आनन-फानन में आग लगवा दी गई! इस आग से जहरीला धुंआ दो दिन तक निकलता रहा! जिस वजह से सफीदों की नई अनाज मंडी, पानीपत रोड़ व इसके आस पास के आवासीय इलाकों में लोगों को सांस लेना मुश्किल हो गया! फरीदाबाद में भी 6 स्थानों पर कूड़े में लगी हुई आग को बुझाया गया! हमारा न्यूज पोर्टल ‘‘जनता की आवाज’’ लगातार कूड़े कर्कट की समस्या व प्रदूषण की समस्या की खबरें लगाने व इस के प्रति जागरूक करने का एक गंभीर प्रयास कर रहा है!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *