गीला सूखा कूड़ा अलग करने के केंद्र बनाये जायें

115 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 7 जनवरी। गुरुग्राम में गीला व सूखा कूड़ा अलग करने के जगह जगह पर केंद्र बनाये जाने की सख्त जरूरत है! नगर निगम की तरफ से अभी तक शहर में कूड़े को अलग अलग करने के कोई भी केंद्र नहीं बनाये गये! इस विषय पर कई दिनों से लगातार यहां की जनता से बातचीत करने के बाद जो सुझाव सामने आयें हैं वो ये हैं कि हर वार्ड स्तर पर नगर निगम कूड़े को अलग अलग करने के बड़े केंद्र बनाये! वार्ड स्तर पर किसी भी इमारत के स्थान पर एक बड़ा कमरानुमा हाल ले कर उस में गीले व सूखे तथा प्लास्टिक या अन्य किसी भी प्रकार के कूड़े को बड़े अच्छे तरीके से अलग अलग किया जाये और हो सके तो गीले कूड़े से खाद बनाने की मशीनें या सिस्टम हर वार्ड स्तर पर लगा दिया जाये! इसके दो फायदे होंगे! एक तो गीला कूड़े को बंधवाड़ी तक ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और दूसरा गीले कूड़े को बंधवाड़ी ले जाने का ट्रांसपोर्ट का खर्चा बचेगा!

वार्ड स्तर पर पार्षदों की जिम्मेवारी इन कूड़े के अलग करने के केंद्रों पर लगा दी जाये ताकि पार्षदों की देखरेख में कूड़ा अलग अलग सही तरीके से हो सके! वार्ड स्तर के इन केंद्रों पर गीले कूड़े से खाद बनाने का सिस्टम लगने से आय का साधन भी बन जायेगा और शहर के हर वार्ड की सफाई व्यवस्था भी ठीक हो जायेगी! इसके अलावा हर वार्ड के अलग अलग मौहल्लों के अनुसार छोटे कूड़ा इकठ्ठा करने के केंद्र बनाये जायें और इन छोटे कूड़ा केंद्रों को भी कवरड करके बनाया जाये ताकि कूड़ा खुले में ना फैले! हर मौहल्लों के अनुसार इन छोटे केंद्रों पर मिक्स कूड़ा सही ढंग से इकठ्ठा किया जाये और उन मौहल्लों से इकठ्ठा किया हुआ मिक्स कूड़ा उस वार्ड के बड़े केंद्र पर ले जा कर कूड़े को अलग अलग कर लिया जाये और सूखे कूड़े को ही केवल बंधवाड़ी भेजा जाये व गीले कूड़े से हर वार्ड स्तर पर खाद बनाई जाये तथा जो प्लास्टिक का कूड़ा अलग निकले उसे प्लास्टिक को रिसाइकल करने वाली जगह भेज दिया जाये तो इस प्रकार से कूड़े का प्रबंधन ठीक हो सकता है! इस प्रकार की व्यवस्था लागू करने से हर घर में कूड़े को अलग अलग करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और वार्ड स्तर पर किसी निश्चित स्थान पर कूड़े को अलग अलग करने का सिस्टम संभव भी है और व्यवहारिक भी है!

हरियाणा के झझर के पास बेरी शहर में अभी हाल ही में हर वार्ड स्तर व मौहल्ले स्तर पर कूड़े को इकठ्ठा करने व अलग अलग करने की व्यवस्था वहां की नगर परिषद के द्वारा की गई है! इसी प्रकार यदि गुरुग्राम के सभी अधिकारी नेक नियत से कूड़े को इकठ्ठा करने व अलग अलग करने की व्यवस्था हर वार्ड स्तर पर कर देते हैं तो निश्चित तौर पर गुरुग्राम की कूड़ा प्रबंधन की व्यवस्था सुचारु रूप से सुधर सकती है और वार्ड स्तर पर गीले कूड़े से खाद बनाने के कारण आय का साधन भी बन सकता है! वार्ड स्तर पर यह व्यवस्था करने का एक फायदा और यह भी होगा कि उस वार्ड बाजारों में नॉन वेज पका कर बेचने वाले दुकानदारों के वेस्ट कचरे का भी अलग प्रबंधन किया जा सकता है! जनता की यह भी राय है कि वार्ड स्तर पर कूड़े का हर प्रकार का प्रबंधन पूर्णतया एक ही विभाग नगर निगम के तहत व सरकारी सफाई कर्मचारियों के द्वारा ही किया जाये ताकि हर प्रकार की जवाबदेही व जिम्मेवारी एक ही सरकारी विभाग की रहे! जनता को कूड़े व सफाई व्यवस्था की किसी भी प्रकार की समस्या के लिए जगह जगह चककर काटने की जरूरत नहीं पड़ेगी! जनता का आज भी सरकारी सफाई कर्मचारियों पर पूर्णतया विश्वास है!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *