कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी बड़ी सौगात

77 Views
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ‘पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन’ योजना के तहत दी जाने वाली सुविधाओं को जारी किया
  • कोरोना काल में अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चे अनाथ नहीं पूरा देश उनके साथ है : मूलचंद शर्मा

फरीदाबाद : आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी के दौरान अनाथ हुए बच्चों को PM केयर फॉर चिल्ड्रन योजना के तहत स्कॉलरशिप ट्रांसफर की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ‘पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन’ योजना के तहत दी जाने वाली सुविधाओं को जारी किया। यह योजना कोरोना काल के दौरान बेसहारा हुए बच्चों के लिए एक सौगात है। आज जब हमारी सरकार अपने 8 वर्ष पूरे कर रही है तो देश का आत्मविश्वास, देशवासियों का खुद पर भरोसा अभूतपूर्व है। भ्रष्टाचार, हजारों करोड़ के घोटाले, भाई-भतीजावाद, देशभर में फैल रहे आतंकी संगठन, क्षेत्रीय भेदभाव, जिस कुचक्र में देश 2014 से पहले फंसा हुआ था उससे बाहर निकल रहा है।

इस अवसर पर प्रदेश के परिवहन एवम खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने PM केयर फॉर चिल्ड्रन योजना के तहत बच्चों के गार्डियन को एक-एक फोल्डर दिया जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश पत्र, स्नेह पत्र, आयुष्मान कार्ड, प्रधानमंत्री की तरफ से पोस्ट ऑफिस में बच्चे के खाते की कॉपी तथा पीएम केयर की गाइडलाइन शामिल हैं। इस अवसर पर विधायक नरेंद्र गुप्ता, विधायक सीमा त्रिखा, विधायक राजेश नागर, विधायक नयनपाल रावत, जिला उपायुक्त जितेन्द्र यादव, सीटीएम नरेश कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी मिनाक्षी चौधरी, जिला बाल संरक्षण अधिकारी गरिमा सिंह तौमर सहित अन्य जिला अधिकारीगण व लाभार्थी भी मौजूद रहे।

वीडियो कॉफ्रेंस के उपरांत केंद्रीय मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल के समय जिन बच्चो ने अपने माता-पिता को खो दिया है उनके लिए पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन’ योजना के तहत बहुत सी घोषणाएं की है। सरकार ने इन बच्चों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा है, 23 वर्ष आयु तक इन बच्चों को योजना लाभ दिया जाएगा। इसके अलावा पीएम केयर फंड के तहत इन बच्चों के नाम एफडी करवाई गई है, बच्चों के 18 वर्ष आयु पूर्ण करने पर यह राशि बढ़कर 10 लाख रुपये हो जाएगी। 18 वर्ष से 23 वर्ष की उम्र तक इन बच्चों को उक्त राशि में से मासिक आधार पर स्टाइफंड दिया जाएगा, बच्चे के 23 वर्ष की आयु पूर्ण होने के उपरांत ये बच्चे यह राशि प्रयोग कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि इन बच्चों को प्रतिवर्ष 20 हजार रुपये शिक्षा व दूसरे खर्चों के लिए दिए जाएंगे। यदि ये बच्चे केंद्रीय विद्यालय, सैनिक स्कूल, कस्तुरबा गांधी स्कूल, मॉडल संस्कृतिक स्कूल या आरोही स्कूलों में भी शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं तो उन्हें नि:शुल्क शिक्षा व आवास सुविधा दी जाएगी। इसके अलावा उच्च शिक्षा के लिए इन बच्चों को शिक्षा ऋण मुहैया करवाया जाएगा, ऋण पर ब्याज की अदायगी पीएम केयर फंड के माध्यम से किया जाएगा।

पीएम केयर फॉर चाइल्ड कार्यक्रम में प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को लाभ देने के लिए सरकार अनेकों योजनाएं चला रही है अंतोदय योजना के तहत लाभार्थी लाभ ले रहे हैं इसी कड़ी में कोरोना महामारी में काल के ग्रास बने अभिभावकों के बच्चों को आर्थिक सहायता देने के लिए सरकार ने यह योजना चलाई है जिसमें आर्थिक सहायता के साथ-साथ मेडिकल सुविधा भी ऐसे बच्चों को मिलेगी फरीदाबाद में आज दो बच्चों के गार्जियन को आर्थिक सहायता राशि का चेक दिया गया पूर्ण कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनकल्याणकारी नीतियों को प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल धरातल पर उतार रहे हैं और जन जन तक योजनाओं को पहुंचाने में एवं भूमिका निभा रहे हैं परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का धन्यवाद जताया है

जिला बाल संरक्षण अधिकारी गरिमा सिंह तौमर ने बताया कि हरियाणा के 93 पात्र बच्चे, जिन्होंने अपने अभिभावक कोरोना महामारी में खोए, उनके अभिभावक का दायित्व सरकार निभा रही है। उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा भी इन बच्चों के लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शुरु की गई है तथा इन बच्चों को योजना का लाभ दिया जा रहा है। योजना के तहत बच्चों को 12 हजार रुपये वार्षिक तथा 2500 रुपये मासिक आधार पर शिक्षा व दूसरे खर्चों के लिए दिए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त इन बच्चों को आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा 50-50 हजार रुपये की राशि भी दी गई है। इन बच्चों को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत जिला समाज कल्याण विभाग द्वारा चलाई जा रही मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना का भी लाभ दिया जा रहा है, यह राशि इन बच्चों के बैंक खाते में भेजी जाएगी, विवाह के समय यह राशि ब्याज सहित निकलवाई जा सकती है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.