केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने वैक्सीनेशन कैंप में शिरकत की

225 Views

फरीदाबाद, 3 अक्टूबर। कोरोना वायरस की महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे से निपटने के लिए भारत सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। यह विचार ऊर्जा, भारी उद्योग केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने आज अपने संसदीय क्षेत्र सेक्टर- 16-ए सामुदायिक भवन में आयोजित वैक्सीनेशन कैंप के निरीक्षण के अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई जानकारी और सलाह को सावधानी व सही तरीके से पालन कर वायरस के स्थानीय प्रसार को रोका जा सकता है।

उन्होंने कहा कि देश भर में शुरु हुए कोरोना वैक्शीन अभियान के तहत अब तक जिस मात्रा में लोगों का कॅरोना वैक्सिनेश हुआ है। वह अपने आप में एक रिकॉर्ड है। कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि जिन लोगों ने अपना कॅरोना वैक्सिनेश नहीं करवाया है वह अपने आस-पास के क्षेत्र मे कॅरोना वैसिनेशन कैम्प मे जाकर अपना कॅरोना वैक्सिनेश जरूर करवाए ताकि कॅरोना से संभावित खतरे से वह खुद को और अपने परिवार को बचा सके।

उन्होंने कहा कि करोना एक प्राणघातक बीमारी है और इसकी चपेट मे आने से व्यक्ति के जान के जोखिम का खतरा बढ़ जाता है। इस बात की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए सभी का यही दायित्व बनता है कि सरकार द्वारा आमजन को जो इस बारे हिदायते दी जा रही हैं। हर व्यक्ति को इनका ख्याल रखना चाहिए और इन हिदायतों की समय रहते अनुपालना सुनिश्चित कर अपने आसपास के लोगों को भी इस संबंध में प्रेरित करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में आमजन को लाभ देने के उद्देश्य से स्वास्थ्य बजट में काफी इजाफा किया है, जिसमें आयुष्मान गोल्डन कार्ड एक ऐसा कार्ड है। जिसकी सहायता से देश का कोई भी व्यक्ति आयुष्मान भारत योजना में चुने गए सरकारी और निजी हॉस्पिटलों में अपना 5 लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज करवा सकते है| यह गोल्डन कार्ड उन गरीब लोगो को मिलेगा जो आयुषमान भारत योजना के लाभार्थी होंगे | भारत सरकार द्वारा आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रकिया को शुरू किया जा चूका है और कोई भी व्यक्ति जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आवेदन करने के बाद स्वर्ण कार्ड को डाउनलोड भी कर सकते है या इसका प्रिंट भी निकलवा सकते है|

देश के वह गरीब लोग जो अपनी आर्थिक तंगी और स्थिति से परेशान है और जिनके पास इलाज करवाने तक के लिए पैसे नहीं है। देश की सरकार ने उनके लिए आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड की शुरुवात की है।आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा साल 2018 में की गयी जिसके तहत लोगो को 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा दिया जाता है। आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड आयुष्मान भारत योजना का ही एक हिस्सा है, जिसके माध्यम से वह अपना गरीब लोग अपना इलाज मुफ्त में अस्पतालों में जाकर करवा सकते है। योजना के अंतर्गत गरीब और मजदूर लोग सरकार द्वारा चयनित सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल्स में 5 लाख तक का मुफ्त इलाज कर सकते है। देश के करोड़ो लोगो को हर साल इस इस योजना का लाभ दिया जा रहा है। अवसर पर पार्षद छत्रपाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी विनय गुप्ता, डॉ मान सिंह सहित अनेको गण्यमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.