कूड़े कर्कट की समस्या का स्थाई समाधान किया जाये

287 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 25 नवंबर। हरियाणा प्रदेश में कूड़े कर्कट को उठाने की समस्या का अभी कोई स्थाई समाधान नहीं निकाला गया! पिछले दो महीने से लगातार हरियाणा के एनसीआर से लगते जिलों में बड़े भारी प्रदूषण की वजह से कूड़े कर्कट की सफाई का अभियान चलाया जा रहा है! पिछले पांच सालों में हरियाणा सरकार ने पूरे प्रदेश में कूड़े कर्कट के प्रबंधन का कोई भी स्थाई रूप से समाधान नहीं निकाला! प्रदेश की भाजपा सरकार का यदि पिछले पांच साल का कार्य देखा जाये तो नजर आता है कि प्रदेश में आम जनता के लिए बुनियादी सुविधाओं को उपलब्ध करवाने पर कोई कार्य नहीं किया गया! हरियाणा में भाजपा सरकार ने केवल नफऱत की राजनीति करते हुए प्रदेश के भाईचारे को खत्म किया और हरियाणा को कूड़े कर्कट की एक महानगरी बना कर रख दिया! प्रदेश के हर शहरों से इस वक्त कूड़े कर्कट की जो खबरें छप रहीं हैं उनके अनुसार तो लगता है कि प्रदेश के किसी भी जिले में सफाई व्यवस्था ठीक नहीं है! भाजपा सरकार सफाई के नाम पर चाहे अपनी पीठ ठोकती रहे किन्तु सच तो जनता के सामने है!

हमारे न्यूज पोर्टल ‘‘जनता की आवाज’’ के माध्यम से गुरुग्राम,फरीदाबाद व हरियाणा के अन्य कई इलाकों की कूड़े कर्कट व सफाई से संबंधित समस्याओं की खबरें प्रकाशित कर के प्रशासन व सरकार की आँखे खोली हैं! गुरुग्राम में तो हमारे न्यूज पोर्टल की खबरों से लोगों में काफी जागृति आई है! अब सवाल यह उठता है कि इन दो महीनों में अभियान चला कर एक बार तो कूड़े कर्कट की समस्या की तरफ सरकार का ध्यान गया और सरकार सफाई करवाने के लिए मजबूर हुई! जनता में सरकार के प्रति अभी यह विश्वास नहीं है कि यह सफाई स्थाई रूप से प्रदेश की सभी नगर निगम, नगर परिषद व नगरपालिकाएं करवा पाएंगी या नहीं! इस विषय में जब गुरुग्राम शहर व सेक्टरों के लोगों से बात की गई तो उनका तो सीधा-सीधा एक ही कहना था कि गुरुग्राम के हर इलाके से कूड़ा कर्कट रोजाना निगम के द्वारा उठाया जाना चाहिए चाहे वो कचरा घरों का हो या चाहे डंपिंग स्थान का हो! रोजाना कूड़ा कर्कट उठाने की पूरी-पूरी जिम्मेवारी सरकार की है क्यों कि सरकार जनता से हर प्रकार के टैक्स लेती है! लोगों का यह भी कहना था कि कूड़ा कर्कट के सफाई अभियान में आज जो सामाजिक लोग या संस्थाएं सहयोग कर रहे हैं वे स्थाई रूप से नहीं हो सकते! यह एक सत्य है! इसी कटु सत्य को सरकार जिस दिन समझ लेगी उसी दिन हरियाणा में कूड़े कर्कट की समस्या का समाधान निकल जायेगा! इसका सीधा-सीधा अर्थ है कि कूड़ा कर्कट व सफाई प्रबंधन सरकार की तरफ से सविंधान के अनुसार अनिवार्य सेवा है और सरकार को जनता की यह सेवा करनी पड़ेगी!

दूसरी तरफ हिसार के किसान नेता चंद्रभान काजला से जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि हिसार नगर निगम के मेयर ने ड्रामा करते हुए अभी एक दो दिन के अंतराल में सफाई अभियान छेड़ते हुए सरकारी मशीनरी लगाई परंतु हिसार की जनता तो पिछले पांच वर्षों से कूड़े कर्कट, जलभराव, सीवर व दूषित पेयजल की समस्या से गंभीर रूप से पीडि़त है! हिसार की जनता को सफाई व्यवस्था का हरियाणा सरकार से स्थाई समाधान चाहिये! अस्थाई रूप से की गई व्यवस्था को पूरे हरियाणा प्रदेश की जनता अब स्वीकार नहीं करेगी!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *