कुपोषण से लडऩे के लिए सभी की भागीदारी जरूरी : प्रो. दिनेश कुमार

333 Views

फरीदाबाद, 18 सितम्बर। जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद की एनएसएस वॉलंटियर्स की टीम ने पोषण अभियान के अंतर्गत फरीदाबाद के गांव राजपुर कलां, कंवरा तथा फलोदी में जागरूकता अभियान चलाया। इस अवसर पर लोगों को कुपोषण के कारण तथा इसके दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक किया तथा पौष्टिक आहार के बारे में जानकारी दी।

उल्लेखनीय है कि देश को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर सितम्बर 2019 को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। विश्वविद्यालय द्वारा चलाये गये अभियान में लगभग 60 एनएसएस वॉलंटियर्स ने ग्रामीणों, विशेष रूप से बच्चों एवं महिलाओं को एनीमिया एवं डायरिया जैसे बीमारियों से रोकथाम की जानकारी एवं बचाव उपायों के बारे में बताया।

इस अवसर पर पौष्टिक एवं संतुलित आहार से संबंधित जानकारी के पर्चे भी बांटे गये। अभियान का आयोजन विश्वविद्यालय के एनएसएस अधिकारी डॉ. प्रदीप डिमरी की देखरेख में किया गया, जिसमें कार्यक्रम अधिकारी डॉ. बिन्दू मंगला, उमेश कुमार तथा नीतीन पंवार की भी अहम भागीदारी रही। एनएसएस टीम ने गांवों में डोर-टू-डोर अभियान चलाकर लोगों को जागरूकता किया।

कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने पोषण अभियान में हिस्सा लेने वाले एनएसएस वॉलंटियर्स टीम के सभी सदस्यों के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा कि देश को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए पोषण अभियान को एक जन आंदोलन का रूप देने का आवश्यकता है, जिसके लिए प्रत्येक व्यक्ति की भागीदारी जरूरी है।

Spread the love