किसान को धमकी दे मांगी एक करोड़ की रंगदारी

99 Views

जींद, 28 अक्टूबर : हरियाणा के जींद जिले के रसीदां गांव के एक किसान को धमकी देकर एक करोड़ रुपये रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है और ऐसा नहीं करने की स्थिति में जान से मारने की धमकी दी गई।

पुलिस ने बताया कि इस संबंध में किसान जसविंदर सिंह की शिकायत पर गढ़ी थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ रंगदारी मांगने सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है।

सिंह ने बताया कि 19 अक्टूबर को दोपहर बाद उसके फोन पर एक कॉल आयी और कॉल करने वाले व्यक्ति ने धमकी देकर एक करोड़ रुपये देने के लिए कहा। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि फोन करने वाले ने राशि न देने पर उसे व उसके परिजनों को बुरा अंजाम भुगतने की धमकी दी।

पुलिस ने बताया कि इस बीच, जिले के सफीदों कस्बें की नई अनाज मंडी में एक किसान ने धान की फसल की खरीद नहीं होने से उसमें आग लगाने की कोशिश की। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि किसान ने धान की ढेरी पर पेट्रोल डाल आग लगाने जा रहा था कि मौके पर मौजूद आढ़ती एवं किसानों ने उसके पास से माचिस छीनकर किसान को वहां से अलग हटाया ।

गांव कुरड़ के किसान अमीर और गांव हाट के किसान रणधीर सिंह ने बताया कि उन्होंने पीआर धान दस दिनों से मंडी डाली हुई है, लेकिन मार्केट कमेटी और वेयरहाउस के कर्मचारी उनको धान को फसल को नहीं खरीद रहे हैं।

किसान रणधीर सिंह ने कहा कि उसकी फसल 16 अक्टूबर से मंडी में पड़ी है लेकिन मार्केट कमेटी के कर्मचारी फसल की खरीद के लिए 300 रुपये क्विंटल की मांग कर रहे हैं।

किसान अमीर ने बताया कि जब उनकी फसल सुखी हुई है तो वो 300 रुपये क्यों दें। जो किसान कर्मचारियों को रिश्वत देता उस किसान की फसल की खरीद हो जाती है।

उधर, वेयरहाउस के मेनेजर सुमित शर्मा ने कहा कि इन किसानों की धान की फसल ने नमी की मात्रा सरकार द्वारा निर्धारित मानक से अधिक है और फसल की सफाई भी नहीं की गई है।

मौके पर मौजूद मार्केट कमेटी के सचिव जगजीत सिंह मार्केट कमेटी का कोई कर्मचारी रिश्वत नहीं मांग रहा है, अगर किसी किसान ने आरोप लगाएं है तो उसकी जांच करवाई जाएगी।

इस बीच, जिले के उचाना उपमंडल कार्यालय में शुक्रवार से विभिन्न मांगों को लेकर किसान, मजदूरों का अनिश्चित कालीन धरना चल रहा है। गुरूवार को केंद्र, प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रोष प्रकट किया गया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.