कांग्रेस 1964 में वादा करने के बावजूद अनुच्छेद 370 समाप्त करने में नाकाम रही : प्रधानमंत्री

608 Views

रेवाड़ी (हरियाणा), 19 अक्टूबर ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर अपना प्रहार जारी रखते हुए शनिवार को आरोप लगाया कि इसके नेता अनुच्छेद 370 को समाप्त करने में नाकाम रहे, जबकि 1964 में संसद में पार्टी ने इसका वादा किया था। मोदी ने हरियाणा विधानसभा चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यहां एक जनसभा में यह कहा।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘1964 में संसद में एक चर्चा के दौरान, देश के प्रतिष्ठित नेता परेशान हो गये…कांग्रेस में विभाजन था। यह मांग थी कि अनुच्छेद 370 को समाप्त किया जाए और इस मुद्दे पर संसद में चर्चा हो।’’ मोदी ने आज अपनी दूसरी रैली में कहा, ‘‘उस वक्त कांग्रेस नेताओं ने हाथ जोड़ कर कहा था कि उनकी मांग पूरी की जाए और अनुच्छेद 370 एक साल में समाप्त कर दिया जाएगा। लेकिन इस विषय को फिर से ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।’’

उन्होंने पूछा, ‘‘क्या मजबूरी थी और क्या खेल खेला जा रहा था।’’ उन्होंने विपक्षी पार्टी पर प्रहार करते हुए दावा किया कि उसने उन जवानों और पुलिसकर्मियों के लिये कोई स्मारक नहीं बनाया, जिन्होंने 70 साल तक राष्ट्र के लिये अपने प्राण न्यौछावर किये। ‘‘सिर्फ भाजपा सरकार ने ही उनके लिये इस तरह के स्मारक बनाये।’’ मोदी ने कहा कि यह भाजपा सरकार है जिसने अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को रद्द किया, जबकि कांग्रेस सिर्फ निजी फायदे की सोच रही थी।

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि ‘वन रैंक,वन पेंशन’ (ओआरओपी) योजना के तहत केवल हरियाणा में ही दो लाख पूर्व सैनिकों को 900 करोड़ रुपये दिये गये। मोदी ने कहा कि भाजपा सरकार ने सैनिकों के लिये अत्याधुनिक हथियार, राफेल लड़ाकू विमान और बुलेटप्रूफ जैकेट लाकर अपने सशस्त्र बलों को मजबूत किया।

Spread the love