एकल उपयोग प्लास्टिक प्रतिबंध – जे आर सी का एकल उपयोग की प्लास्टिक मुक्त कैंपेन

67 Views

फरीदाबाद : एक जुलाई से एकल उपयोग की प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाया जा रहा हैं। जूनियर रेडक्रॉस, गाइड्स और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड द्वारा राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन आई टी नंबर तीन फरीदाबाद में विद्यालय के प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा के निर्देशन में एकल उपयोग की प्लास्टिक का प्रयोग न करने हेतु जागरूकता अभियान चलाया। ब्रिगेड अधिकारी, जूनियर रेडक्रॉस काउन्सलर व प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि सिंगल यूज प्लास्टिक से अभिप्राय ऐसी प्लास्टिक से है जिस का उपयोग केवल एक बार ही किया जा सकता है। सामान्य भाषा में इस प्रकार की प्लास्टिक को डिस्पोजेबल प्लास्टिक कहा जाता है।

सिंगल यूज प्लास्टिक के अन्तर्गत प्लास्टिक की थैलियां, प्लास्टिक के गिलास व चम्मच, पानी की बोतलें, खाद्य पदार्थों में प्रयोग होने वाली पैकिंग एवम प्लास्टिक सम्मिलित हैं। इस प्रकार की प्लास्टिक का उपयोग रिसाइकिल में भी नहीं किया जाता। प्रयोग के बाद इस प्लास्टिक को कचरे में डाल दिया जाता है। जोकि पर्यावरण के लिए हानिकारक सिद्ध होता है। सरकार द्वारा एकल उपयोग की प्लास्टिक मुक्त भारत अभियान चलाया जा रहा है। एकल उपयोग की प्लास्टिक अभियान के संचालन का मूल उद्देश्य देश के सभी नागरिकों की स्वच्छ पर्यावरण के प्रति जागरुकता बढाना है।

प्राचार्य मनचंदा ने कहा कि पॉलीथिन के उपयोग के कारण पर्यावरण में पैदा होने वाला प्रदूषण नियंत्रण करना बहुत कठिन है। यह समस्या संपूर्ण विश्व के लिए चिंता का विषय है। पॉलीथिन के कचरे में डलने तथा जलने से जो धुआं निकलता है वह हवा में विषैली गैस के रूप में फैलता है। इस प्रकार की परिस्थितियों पर विचार करते हुए सरकार द्वारा सिंगल प्लास्टिक यूज पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया जाता रहा है।

प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि हर वर्ष लाखों टन में पॉलीथिन का उत्पादन किया जाता है। जिसके बाद पॉलीथिन तथा पॉलीथिन की वस्तुओं को कचरे में रीसाइकल के लिए फेंक दिया जाता है। लेकिन रीसाइकल ना हो पाने के कारण यह पॉलीथिन पर्यावरण के लिए अभिशाप बन जाती है। पर्यावरण का मनुष्य के जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है।

पॉलीथिन के उपयोग से होना वाला पर्यावरण का ह्यास मानव अथवा प्राणी जीवन के लिए बेहद हानिप्रद है विद्यालय की जूनियर रेडक्रॉस और ब्रिगेड सदस्य छात्राओं सिया, निशा, ताबिंदा, अंशिका, चंचल, अंजली, मनीषा, मुस्कान, एकता, स्नेहा, कशिश, राखी और अक्षरा का एकल उपयोग के प्लास्टिक का बहिष्कार करने के लिए पेंटिंग और पोस्टर बना कर जागरूक करने के लिए विद्यालय की एक्विटीज कॉर्डिनेटर प्राध्यापिका मोनिका और शीतल, सोनिया बमल, प्रवीण एवम प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने हार्दिक अभिनंदन किया और अपील की कि सामूहिक प्रयासों से एकल उपयोग के प्लास्टिक का बहिष्कार कर हम पर्यावरण प्रहरी बन सभी को स्वच्छ पर्यावरण प्रदान करवाने में सहायक बनें।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.