इंडियन इंडस्ट्रियल सर्विसेज के डायरेक्टर्स रेडक्रॉस को हर रोज उपलब्ध करा रहे हैं खाने के 500 पैकेट

151 Views

फरीदाबाद, 5 मई। देश में वैश्विक महामारी कोविड-19 से बचाव के लिए पिछले करीब डेढ़ माह से जारी तालाबंदी के दौर में गरीब, मजदूर व असहाय लोगों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए सरकार व सामाजिक संगठनों के साथ ही उद्यमी भी अपनी ओर से भरपूर मदद कर रहे हैं। इसी कड़ी में फरीदाबाद के सेक्टर-4आर स्थित इंडियन इंडस्ट्रियल सर्विसेज के डायरेक्टर्स उदयवीर सिंह व मोहित सिंह भी खाने के 500 पैकेट हर रोज रेडक्राॅस को उपलब्ध करा रहे हैं। इस मौके पर हरियाणा रेडक्रास सोसायटी की चेयरपर्सन सुषमा गुप्ता, जिला
रेडक्रास सोसायटी के सचिव विकास कुमार व सहायक पुरुषोत्तम सैनी समेत अनेक वाॅलिंयटर्स मौजूद रहे।

इस अवसर पर सुषमा गुप्ता व विकास कुमार ने इंडियन इंडस्ट्रियल सर्विसेज का आभार व्यक्त करते हुए संयुक्त रूप से कहा कि तालाबंदी के इस कठिन समय में हम सभी को एकजुट होकर देश से कोरोना महामारी के सफाये के लिए सरकार व प्रशासन द्वारा जारी हिदायतों का सख्ती से पालन करें। तालाबंदी को सफल बनाने के लिए सबसे जरूरी है लोग घरों से बाहर न निकलें, इससे लोगों को कुछ परेशानी भी होती है। इन्हीं परेशानियों व जरूरतमंदों की मदद को जिला
रेडक्रास भरसक प्रयास कर रही है और जरूरतमंदों को जरूरी सामान उपलब्ध करा रही है। वहीं जिला रेडक्रास सोसायटी की मदद करने में भी समर्थ जन पीछे नहीं हैं तथा दिल खोलकर सहायता कर रहे हैं ऐसे सभी व्यक्तियों का सोसायटी तहेदिल से शुक्रिया अदा करती है तथा अन्य सभी से अनुरोध करती है कि संकट की इस घड़ी में सभी अपने सामथ्र्य अनुसार मदद देकर लोगों को राहत पहुंचाने में सहायक बनें।

वहीं इंडियन इंडस्ट्रियल सर्विसेज के डायरेक्टर्स उदयवीर सिंह व मोहित सिंह ने कहा कि गरीबों व जरूरतमंदों की मदद करने से बड़ी कोई समाजसेवा नहीं है। इसी के तहत वे सभी जरूरतों की मदद करने को हमेशा प्रयासरत रहते हैं क्योंकि नर सेवा ही नारायण सेवा है। उन्होंने कहा कि वे भविष्य में भी उनकी जब भी कहीं जरूरत होगी वे दिल खोकर मदद करने को हमेशा तैयार रहेंगे। उन्होंने लोगों से अपील की कि जागरूकर रहकर ही कोरोना पर काबू
पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि संकट के इस दौर में प्रत्येक व्यक्ति को राष्ट्र के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए और हर समय देशसेवा के लिए तैयार रहना चाहिए।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *