आलू प्याज हजम कर गई सरकार

275 Views

गुरुग्राम (मदन लाहौरिया) 26 दिसंबर। इस वक्त देश व प्रदेश में आलू प्याज की आसमान छूती कीमतों को लेकर हाहाकार मचा हुआ है! आलू प्याज हर गरीब आदमी का मुख्य भोजन है क्योंकि गरीब आदमी आलू प्याज की सब्जी खाकर ही पूर्णतया तृप्त हो जाता है! प्याज की चटनी के साथ भी गरीब व्यक्ति रोटी का गुजारा कर सकता है! आलू प्याज एक गरीब आदमी के लिए भगवान के समान है क्योंकि आलू प्याज गरीब को मिलने के बाद उसे और कोई भी महंगे व्यंजनों की जरूरत नहीं होती! इस वक्त देश की केंद्रीय सरकार की गलत नीतियों के कारण ही आलू प्याज की कीमतें आसमान को छू रहीं हैं! एक तो मात्र तीन से चार वर्ष पहले वो वक्त था जब हमारे देश से प्याज भारी मात्रा में विदेशों को निर्यात किया जाता था और आज वो वक्त आ गया जब हमारा देश दूसरे देशों से प्याज आयात कर रहा है! इसी प्रकार आलू भी इस वक्त दूसरे देशों से मंगाया जा रहा है!

जरा गंभीरता से सोचियें कि हमारे देश में यह नौबत क्यों और कैसे आयी! इस प्रश्न का जवाब एक ही नजर आता है कि इस वक्त हमारे देश के नीति आयोग की खाद्य पद्धार्थों व फसलों की योजना सुचारु रूप से नहीं है! माना कि आलू व प्याज की फसल भारी बारिश की वजह से कई प्रदेशों में खराब हुई परंतु सरकार आलू व प्याज की कीमतों पर नियंत्रण क्यों नहीं कर पा रही! देश व प्रदेश की जनता के सामने तो मुख्य सवाल यही है कि जो आलू व प्याज गरीबों का भोजन में इस्तेमाल होने वाला मुख्य पदार्थ है उस की कीमतें लगातार क्यों बढ़ रही है! जनता का पूरा पूरा शक कालाबाजारियों पर है और जनता यह भी कयास लगा रही है कि कहीं सरकार समर्थक व्यापारी ही तो आलू और प्याज की स्टॉक होल्डिंग करके कालाबाजारी ना कर रहे हों? यदि ऐसा हो रहा है तो वास्तव में ही यह मामला बहुत गंभीर है! आलू और प्याज की कालाबाजारी को तुरंत रोका जाये!

विदेशों से जो प्याज मंगाया जा रहा है वो पीले रंग का है व स्वाद में भी भारतीय प्याज के मुकाबले बिलकुल बेकार है और इन कमियों के बावजूद इस वक्त बाजार में विदेशी प्याज 90 रूपये से 95 रूपये की महंगी कीमतों में बेचा जा रहा है जब कि विदेशों से भारत पहुँचने पर 47 रूपये प्रति किलो की लागत आ रही है! बिचौलिये व कालाबाजारी वाले व्यापारी सरकार की मिलीभगत से बीच के अंतर का मोटा मुनाफा हजम कर रहें हैं! बाहर का प्याज सरकार तो तुर्की व मिस्र से मंगवा रही है और व्यापारी निजी तौर पर अफगानिस्तान से प्याज मंगवा रहे हैं! सूत्रों के अनुसार अमृतसर के पास पाकिस्तान बार्डर पर रोजाना सैंकड़ों ट्रक प्याज के अफगानिस्तान से पहुंच रहे हैं! अफगानिस्तान से प्याज ज्यादा मात्रा में आने के कारण अब प्याज के ट्रकों को वापिस भेजा जा रहा है! आलू की कीमतें भी इस वक्त आसमान को छूते हुए 30 से 35 रूपये प्रति किलो हो गई है! गरीब आदमियों की रोटी के साथ यह बहुत बढ़ा अन्याय है! इस वक्त देश की भाजपा सरकार के द्वारा बढ़ती हुई महंगाई को रोकने के लिए कोई प्रयास नहीं किये जा रहे! आलू प्याज की बढ़ती कीमतों के साथ साथ अब अमूल,वीटा व मदर डेयरी के दूध की कीमतें भी दो से तीन रूपये प्रति लीटर बढ़ा दी गई हैं! इसके साथ साथ खाद्य तेलों की कीमतें भी बढ़ा दी गई हैं! जीएसटी की दरें भी बढऩे जा रही हैं! इस भाजपा सरकार के राज में कालाबाजारी करने वाले व्यापारी मालामाल हो रहे हैं और देश का गरीब और मध्यम वर्ग बढ़ती हुई महंगाई की चक्की में पिसता चला जा रहा है! मोदी सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त हो कर गरीबों के मुख्य भोजन आलू व प्याज को हजम कर गई!

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Reply to “आलू प्याज हजम कर गई सरकार”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *