आयुक्त सोनल गोयल ने अधिक मेहनत करने की आवश्यकता पर बल दिया !

300 Views

फरीदाबाद, 4 नवम्बर। वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए फरीदाबाद नगर निगम का अमला आज भी सक्रिय रहा। मैगपाई सेक्टर-16ए के पास मुकेश नामक व्यक्ति से कूड़ा जलाने के कारण आज 5000 रूपये का जुर्माना वसूल किया और निगम के तीनों जोनों में खुले में भवन निर्माण सामग्री डालने के आरोप में 76 व्यक्तियों/दुकानदारों के चालान किये गये और अनेकों स्थानों पर  भवन निर्माण सामग्री को ढ़कवाया भी गया। जगह-जगह चल रही निर्माण गतिविधियों को रोका गया।  पानी के टैंकरों से सड़कों व मुख्य रास्तों पर हर रोज की तरह सुबह-सुबह पानी का छिड़काव का कार्य जारी रहा।

इधर फरीदाबाद नगर निगम की आयुक्त सोनल गोयल ने वायु प्रदूषण की आपात स्थिति से निपटने के लिए निगम प्रशासन के द्वारा किए जा रहे उपायों की समीक्षा करने के लिए अपने कार्यालय में आज दोपहर बाद बुलाई गई निगम अधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि यदि इको ग्रीन कंपनी ने बिना किसी देरी के अपनी कार्यशैली में सुधार नहीं किया तो उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने के लिए सरकार को लिख दिया जायेगा और अन्य वैकल्पिक व्यवस्था करके शहर में बेहतर सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उन्होंने निगम के सफाई, इंजीनियरिंग व फायर बिग्रेड विभाग के द्वारा वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए किए जा रहे कार्यों पर संतोष व्यक्त करते हुए इस कार्य में और अधिक मेहनत करने की आवश्यकता पर बल दिया। आज की इस बैठक में अतिरिक्त आयुक्त विक्रम, संयुक्त आयुक्त प्रशांत अटकाॅन व  गगनदीप सिंह, मुख्य अभियंता डी.आर. भास्कर व रमेश मदान, स्वास्थ्य अधिकारी डा. उदयभान शर्मा, कार्यकारी अभियंता ओमवीर, रमन जागलान, श्याम सिंह, रवि शर्मा, दीपक किंगर, विजय ढाका, अमरजीत बिसला और अग्निशमन सेवा अधिकारी  राम सिंह खटाना आदि उपस्थित थे।

निग्मायुक्त ने बैठक को संबोधित करते हुए निगम अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि वे ग्रेप/केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और हरियाणा सरकार के द्वारा प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए जारी की गई हिदायतों की दृढ़ता से पालना करना सुनिश्चित करें। सभी कार्यकारी अभियंता और स्वास्थ्य अधिकारी अपने फील्ड स्टाफ के माध्यम से कूड़ा जलाने की घटनाओं पर पैनी नजर रखे और चल रही चालानिंग प्रक्रिया में तेजी लाए, वैध या अवैध रूप से चल रहे सभी प्रकार के निर्माण कार्यों को सख्ती से रोका जाए, जहां-जहां खुले में भवन निर्माण सामग्री पड़ी हुई है उन्हें या तो ढकवाया जाए या उनके चालान करवाये जाये। सड़कों और मुख्य रास्तों पर पानी के टैंकरों के माध्यम से और पेड़ों पर फायर बिग्रेड की गाड़ियों के माध्यम से पानी को छिड़काव का कार्य निरंतर जारी रखने के निर्देश भी निगम आयुक्त ने बैठक में दिए। इको ग्रीन कंपनी पर नकेल न कसने और स्वीपिंग मशीन के द्वारा समुचित सफाई न करवाने पर निगम आयुक्त ने सफाई विभाग के अधिकारियों और संबंधित कार्यकारी अभियंता को जमकर खरी-खोटी सुनाई और उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.