अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ हिंसक वारदात हरियाणा सरकार बिल्कुल नहीं करेगी बर्दाश्त : खनन मंत्री मूलचंद शर्मा

54 Views
  • कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा ने डीएसपी सुरेन्द्र सिंह की मौत पर किया गहरा शोक व्यक्त

चंडीगढ़/फरीदाबाद : प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने नूंह के तावडू में अवैध खनन करने वाले डंपर चालकों द्वारा डीएसपी सुरेंद्र सिंह की हत्या के बाद गहरा शोक प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश में गुंडाराज बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ हिंसक वारदात हरियाणा सरकार बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि डीएसपी सुरेंद्र सिंह के परिवार को न्याय मिलेगा।

उन्होंने शोक प्रकट करते हुए कहा कि आरोपियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा राज्य में अवैध खनन को रोकने के लिए संबंधित उपायुक्त की अध्यक्षता में जिला स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है। समिति के प्रमुख सदस्यों में पुलिस अधीक्षक ,जिला वन अधिकारी, एचएसपीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी, जिला परिवहन अधिकारी और संबंधित जिले के खनन अधिकारी शामिल है। खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि डीएलटीएफ जिला में अवैध खनन को रोकने के लिए जमीनी स्तर पर कड़ी कार्यवाही करने में पूरी तरह सक्षम है।

अवैध खनन खनन सामग्री का अवैध उत्खनन है बल्कि वाहनों द्वारा सामग्री का अवैध परिवहन भी शामिल है। खान एवं भूविज्ञान विभाग पुलिस के साथ मिलकर कर ऐसे वाहनों को जप्त लेता है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि वाहनों पर 2 लाख से लेकर 4 लाख तक का जुर्माना लगाया जाता है ,साथ ही मुकदमा भी दर्ज किया जाता है। खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने पिछले वर्ष का जिला वाइज आंकड़ा देते हुए बताया कि पिछले साल 2362 वाहनों को सीज किया गया था इसके साथ ही जुर्माना लगाने के बाद 837 वाहनों को रिलीज किया गया जबकि सुपरदारी पर करीब 910 वाहन रिलीज किए गए, उपरोक्त वाहनों से साल 2020 और 20 21 में 23 करोड़ 27 लाख 64 हजार 9 सौ 86 रुपए की जुर्माना राशि वसूल की गई थी जबकि 910 मुकदमे भी दर्ज किए गए।

जबकि साल 2021 और 2022 में अभी तक विभाग द्वारा की गई कार्यवाही में 253 वाहनों को सीज किया गया है जिसमें से 58 वाहनों को जुर्माने के साथ छोड़ा गया है जबकि 90 वाहनों को सुपरदारी के आदेश अनुसार छोड़ा गया है। सरकार ने साल 2021 से साल 2022 में अभी तक 13 करोड़ 12 लाख 9 हजार 1सौ 58 रुपए जुर्माना राशि वसूल की है और 138 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी कीमत पर प्रदेश में अवैध खनन करने वाले लोगों को नहीं बख्शा जाएगा। अवैध खनन को रोकने के लिए बनाई गई टीम सख्ती के साथ कार्रवाई में लगी हुई है। खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने यह भी बताया कि यदि बार-बार किसी भी व्यक्ति की गाड़ी अवैध माइनिंग मामले में संलिप्त मिलती है तो उसे अपनी गाड़ी की शोरूम की कीमत का 50 प्रतिशत जुर्माने के रूप में देना पड़ेगा। तभी वह अपनी गाड़ी छुड़ा पाएगा। अन्यथा सरकार द्वारा गाड़ियों की नीलामी करा दी जाती है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published.